February 27, 2024

जल है तो कल है, भूजल संरक्षण करें भूजल जन-जागरूकता लघु गोष्ठी का आयोजन

झांसी। भूजल जन-जागरूकता एस0आर0जी0आई इन्स्टीटयूट में लघु गोष्ठी का आयोजन किया गया। गोष्ठी में सहायक भू-भौतिकविद आकाशदीप ने जल संरक्षण के बारे में लोगों को जागरूक किया। सहायक भू-भौतिकविद आकाशदीप ने कहा अपने घरेलू कार्यो में जल की खपत को कम करें, ताकि आगे आने वाले समय में लोगों को जल की समस्या न हो। उन्होने कहा कि तालाब, कुआ, चैकडैम आदि के माध्यम से वर्षा जल संचयन करे जिससे वर्षा का पानी नालो में जाकर बबार्द न हो क्योकि हम भूजल से पानी तो लें लेते है परन्तु उसे रिर्चाज नहीं करते। उन्होने सरकारी भवनों में रूफ टॉप रेन वाटर हार्वेस्टिंग लगाने की सलाह देते हुये कहा कि निजी आवासों में भी रेन वाटर हार्वोस्टिंग की व्यवस्था होनी चाहिए जिससे भू-जल रिचार्ज हो सके। मनीष कुमार कनौजिया सहायक भू-भौतिकविद ने “CATCH THE RAIN” के बारे में भी लोगों को जागरूक किया। एस0आर0जी0आई के डॉ0 प्रिंयक जैन ने भी छात्रों को जल संरक्षण के बारे में जागरूक किया।गोष्ठी में पवन कुमार अवर अभियन्ता, श्रीमती राखी वर्मा डाटा प्रोसेसर, राजकुमार कनि0 सहायक आदि लोग उपस्थित थे।

रिपोर्ट – मुकेश वर्मा/राहुल कोष्टा

error: Content is protected !!