March 4, 2024

नही चली नेतागिरी, ओर न चली हड़ताल की धमकी आखिर रोकना ही पड़ा निर्माण कार्य

झांसी। एक जमीन पर हो रहे निर्माण कार्य को अवैध कब्जा बताते हुए निर्माण कार्य रोकने की मांग को लेकर पुलिस के पास पहुंचे वृद्ध की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस को देख दूसरा पक्ष नेतागिरी झाड़ते हुए पुलिस पर जमकर रोब जमाया यही नहीं पुलिस को हड़ताल करने तक की धमकी दे डाली। लेकिन पुलिस ने किसी की एक न सुनी। पुलिस ने नियम कानूनों का पालन करते हुए कार्य को रुकवा दिया और पूरा प्रकरण जिला प्रशासन के सामने रख दिया। इधर सूचना पर तहसील दार भी मौके पर पहुंचे और उन्होंने दोनो पक्षों को अगले दिन बुलाकर सुनवाई करने का आश्वाशन दिया है।जानकारी के मुताबिक पचकुइया मंदिर के पास रहने वाले चंद्र स्वरूप सक्सेना ने रविवार की सुबह सीपरी बाजार पुलिस को सूचना दी की उसने लहर गिर्द में नीलामी में सरकार से जमीन खरीदी थी। जिस पर आज कुछ लोग खुद को भाजपा का नेता का प्रतिनिधि बताकर फर्जी रजिस्ट्री कराकर निर्माण कार्य कर रहे है। इस सूचना पर पुलिस फोर्स मौके पर पहुंचा और निर्माण कार्य रोकने तथा दोनो पक्षों को थाना चलने के लिए कहा। जिस पर वहां मौजूद लोग पुलिस से उलझ गए और निर्माण कार्य रुकवाने पर पुलिस पर जमकर रोब जमाया। लेकिन जब पुलिस उनके दबाव में नहीं आई तो वह लोग पुलिस को हड़ताल करने की धमकी देने लगे। हंगामा बढ़ते देख मौके पर और पुलिस फोर्स बुलाकर निर्माण कार्य रुकवाया। इधर सूचना मिलते ही तहसील दार भी मौके पर पहुंचे निरीक्षण करने के बाद उन्होंने दोनो पक्षों की रजिस्ट्री और दस्तावेज लेकर दोनो पक्षों को सोमवार को उपस्थित होने का निर्देश दिया है। वही पुलिस के मुताबिक दोनों पक्षों ने अपनी अपनी रजिस्ट्री दिखाई है, मामला राजस्व से जुड़ा होने पर तहसील दार के संज्ञान में डाल दिया है। जिसके पक्ष में आदेश होगा उसी का निर्माण कार्य कराया जायेगा तब तक के लिए निर्माण कार्य को रोक दिया गया है।

रिपोर्ट – मुकेश वर्मा/राहुल कोष्टा

ये भी देखें

error: Content is protected !!