March 4, 2024

बुंदेलखंड की धरोहरों की चित्र प्रदर्शनी लगाई

झांसी। आजादी के अमृत महोत्सव की शृंखला में विश्व धरोहर दिवस के उपलक्ष में राजकीय संग्रहालय एवं क्षेत्रीय पुरातत्व इकाई के संयुक्त तत्वावधान में राजकीय संग्रहालय, झाँसी में बुन्देलखण्ड की धरोहर के रूप में विद्यमान स्मारकों एवं अन्य प्राचीन भवनों के दुर्लभ छायाचित्र की प्रदर्शनी लगाई गई। इस अवसर पर जनसामान्य के द्वारा उनके निजी संग्रह में विद्यमान पुराने सिक्कों की प्रदर्शनी भी लगाई गई। प्रदर्शनी का शुभारंभ राज्य मंत्री हरगोविंद कुशवाहा द्वारा किया गया। उन्होंने अपने उद्बोधन में बुन्देलखण्ड के प्राचीन इतिहास और गौरवशाली अतीत के बारे में जानकारी प्रदान किया। विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित लोक भूषण पन्नालाल असर ने सिक्कों की दुर्लभ प्रदर्शनी को बहुत ही प्रेरक बताया। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे समाज सेवी मोहन नेपाली ने कहा कि पहली बार सिक्कों का दुर्लभ लोक संग्रह देखने को मिला। सिक्कों की प्रदर्शनी में मुख्य रूप से झाँसी के सिक्का संग्राहक हरी मोहन दुबे,अनिल कुशवाहा, अमित अग्रवाल, चित्रांश साहू, मोहन नेपाली तथा ग्वालियर से आए पवन वर्मा ,संतोष सोनी ,कु0 यशवंती ,कु0 प्राची कुशवाहा, नारायण लाल, दिव्याश साहू, कौशलेंद्र गुप्ता द्वारा प्रदर्शित सिक्के प्रमुख हैँ। इस अवसर पर मणिकर्णिका समाज सेवी संस्था द्वारा पानी के लिए 4 मटका प्रदान किया। कार्यक्रम संचालन डॉ उमा पाराशर ने तथा धन्यवाद डॉ सुरेश कुमार दुबे ने किया। इस अवसर पर स्वप्निल मोदी, प्रीति चौरसिया ,रश्मि सक्सेना, उषा सेन,वंदना नाहर कामिनी बघेल, शेफाली निरंजन, संजय राष्ट्रवादी, नरेश चंद्र अग्रवाल , जगदीश लाल, रमेश श्रीवास, मुकेश रायकवार, दिव्या प्रजापति, प्रकाश, आदि उपस्थित रहे। फोटो प्रदर्शनी दर्शकों के लिए 2 दिन निश्शुल्क खुली रहेगी।

रिपोर्ट – मुकेश वर्मा/राहुल कोष्टा

error: Content is protected !!