May 20, 2024

दिव्य श्री शक्ति सहस्त्र चंडी महायज्ञ 2 मार्च से – पं विजय त्रिवेदी- विशाल शोभायात्रा 1 मार्च को, भगवान के विभिन्न स्वरूप रहेंगे आकर्षण का केंद्र

झांसी। श्री श्री 1008 श्री महाकाली विद्या पीठ मंदिर लक्ष्मी गेट की भव्य प्राचीन प्रांगण मैं दिव्य सहस्त्र चंडी महायज्ञ का विशाल आयोजन 42 वर्ष पश्चात 1 मार्च से 9 मार्च 2022 तक किया गया है। यह जानकारी मंदिर प्रांगण में आयोजित पत्रकार वार्ता में मुख्य पुजारी पंडित विजय कुमार त्रिवेदी ने पत्रकारों को दी। सोमवार को प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए उन्होंने बताया कि इस महायज्ञ की कलश यात्रा 1 मार्च को दोपहर 12 बजे महाकाली मंदिर लक्ष्मी गेट से बड़ा बाजार, गांधी रोड, सुभाष गंज,रानी महल, सिंधी चौराहा, कोतवाली से होते हुए पंचकुइयां मंदिर पहुंचेगी। जहां से वापस सराफा बाजार होते हुए वापस महाकाली मंदिर आएगी। जिसमें कई स्वरूप महाकाली जी, शिव शंकर जी,गणेश जी के रहेंगे। तो वही बैंड बाजे और डीजे भक्ति में धुन बजाते हुए आगे रहेंगे। महाकाली मंदिर पर प्रतिदिन सुबह 5 बजे से बनारस से आए हुए ब्राह्मणों द्वारा वैदिक स्वर में मां का अभिषेक होगा। 7:30 से 10:00 तक वैदिक पाठ प्रारंभ होगा। सुबह 11 बजे से दोपहर 2 बजे तक महायज्ञ प्रारंभ होगा। पूर्णाहुति 9 मार्च को प्रातः 10 बजे होगी। उसके पश्चात विशाल भंडारे का आयोजन होगा। यह यज्ञ बहुमुखी प्रतिभा के धनी तंत्र के साधक मां काली की सिद्धि प्राप्त गुरुदेव जी के आशीर्वाद से इस दिव्य श्री शक्ति सहस्त्र चंडी महायज्ञ का आयोजन उनके ब्रह्मलीन होने के बाद लगभग 40 वर्ष पश्चात मां के दरबार में हो रहा है। इस यज्ञ का धैर्य संपूर्ण भारतवर्ष ही नहीं अपितु विश्व में फैली महामारी से बचाव तथा विश्व कल्याण होता है। इस दौरान पंडित गोपाल त्रिवेदी, अमित रावत, भूपेंद्र कुमार रायकवार आदि उपस्थित रहे।

रिपोर्ट – मुकेश वर्मा/राहुल कोष्टा

ये भी देखें

error: Content is protected !!