June 22, 2024

बाबा को स्मार्ट फोन भी चलाना नहीं आता:अखिलेश यादव किसानों ने सबसे ज्यादा आत्महत्या बुंदेलखंड में की

झांसी। विधान सभा चुनाव के दौरान गुरसराय में जन सभा को संबोधित करने आए समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने योगी सरकार और मोदी सरकार पर जमकर हमला बोलते हुए भ्रष्टाचार और झूठ की सरकार भाजपा को बताया। उन्होंने कहा बाबा को लैपटॉप चलाना नहीं आता यह बात तो ठीक थी लेकिन अब पता चला बाबा को स्मार्ट फोन भी चलाना नहीं आता। यह वक्तव्य अखिलेश यादव ने गुरसराय में हुई जनसभा में कहे। उन्होंने गुरसराय में जनसभा को संबोधित करते हुए कहा की यह उत्तर प्रदेश का विधान सभा चुनाव बाबा भीमराव अंबेडकर के संविधान को बचाने का चुनाव है। क्योंकि भाजपा बाबा के बनाए संविधान को बदल रही है। वही उन्होंने कहा की भाजपा का छोटा नेता छोटा झूठ बोलता है और बड़ा नेता बड़ा झूठ बोलता है। इसलिए जनता से अपील करते है। इस बार बहकावे में न आए समाजवादी पार्टी को वोट देकर प्रदेश में समाजवादी पार्टी की सरकार बनाए ओर भ्रष्टाचारियों को समाप्त करे। साथ ही उन्होंने कहा भाजपा ने आज तक किसी किसान की मदद नही की। किसानों को उनकी फसल की कीमत नही मिली। भाजपा ने सिर्फ महंगाई बढ़ाई है। इस भाजपा सरकार में महंगाई और भ्रष्टाचार चरम पर है। महंगाई और भ्रष्टाचार ने व्यापारियों और जनता को बरबाद कर दिया। किसी बेरोजगार को रोजगार नहीं मिला ओर दिल्ली मुबई में झूठे झूठे रोजगार देने के फर्जी होर्डिंग बैनर लगवा कर गुमराह किया जा रहा है। उन्होंने कहा बाबा ने लखनऊ में टेबलेट लैपटॉप बांटे लेकिन यहां किसी को नहीं मिला। उन्होंने कहा हम अब तक कहते थे बाबा टेबलेट चलाना नहीं जानते लेकिन अब पता चला बाबा स्मार्ट फोन भी नही चला पाते। हजारों करोड़ों रुपया अन्ना प्रथा को खत्म करने के लिए बुंदेलखंड को दिया गौ शलाए बनाई कहा गई वह गौ शालाएं अगर उन रूपयो का सही इस्तेमाल होता तो सड़कों पर अन्ना जानवर नहीं घूमते, सड़कों पर किसी की जानवर के टकराने से किसी की मौत नही होती। वही उन्होंने कोरो ना काल में मजदूर और आने जाने वाले लोगों को हुई समस्याओं का जिम्मेदार भाजपा सरकार को ठहराते हुए कहा की जिस प्रकार महामारी में बॉर्डर लगाकर लोगों को रोका गया गर्भवती महिला को पैदल जो मुंबई से आ रही थी उसे ललितपुर पर रोक लिया था। सोचिए उसे कितनी समस्याएं हुई होगी। उन्होंने कहा अगर समाजवादी पार्टी की सरकार होती तो हम डीएम की गाड़ी छीन कर उस महिला मजदूरों को उनके घर घर पहुंचाने की व्यवस्था करते। उन्होंने कहा बुंदेलखंड में सबसे ज्यादा किसानों ने आत्महत्या की ओर उसमे सबसे ज्यादा महोबा में की है। उन्होंने कहा इस झूठ की राजनीति करने वाली भाजपा सरकार के नेता अब अगर सात सौ बार कान पकड़ कर भी उठक बैठक लगाएंगे तो भी जनता उन्हे माफ़ नही करेगी। उन्होंने जनता से समाजवादी की सरकार बनाने की मांग की है और झांसी विधानसभा से चारों प्रत्याशियों को जनता से जीत दिलाने की मांग की है।

रिपोर्ट – मुकेश वर्मा/राहुल कोष्टा

error: Content is protected !!