April 15, 2024

श्रीकृष्ण भगवान की बाल लीलायें सुन भाव विभोर हुए श्रोता

झाँसी। भोजला स्थित बडी माता मंदिर पर चारधाम यात्रा से लौटकर आये भोजला निवासियों द्वारा आयोजित श्रीमद भागवत कथा ज्ञान यज्ञ के पंचम दिवस का प्रसंग सुनाते हुए श्रीधाम ददरौआ से पधारे कथा व्यास विवेक मिश्रा शास्त्री ने पंचम दिवस भगवान श्रीकृष्ण की बाल लीलाओं का विस्तार से वर्णन किया।उन्होंने कहा कि भगवान कृष्ण ने 6 वर्ष की उम्र में कालिया नाग को नाथ कर यमुना जल को पवित्र किया। वे कहते हैं कि जब जीव मन रूपी गेंद यानि कि भगवान का ध्यान करेगा तब तब वासना के कालिया नाग को मार कर प्रभु हृदय को पवित्र कर देंगे, इसके बाद भगवान ने 7 वर्ष की उम्र में गिरराज को धारण किया, इन्द्र के अभिमान को नष्ट करने के लिए ही भगवान कृष्ण ने गिरिराज गोवर्धन की पूजा करवायी। कथा व्यास ने कहा कि भागवत दर्शन ही कृष्ण भगवान के दर्शन है। भागवत में भगवान की बाल लीलाओं का प्रसंग सुनकर श्रोतागण भाव विभोर हो उठे।कथा व्यास ने सुंदर भजन सुनाये “छोटी छोटी गइंया छोटे छोटे ग्वाल छोटो सो मेरो मदन गुपाल”जिन्हें सुन श्रोता झूम उठे। प्रारंभ में मुख्य यजमान श्रीमती महादेवी मनोज यादव ने कथा व्यास का माल्यार्पण कर श्रीमद भागवत पुराण का पूजन कर आरती उतारी। संचालन एवं मूल पाठ राहुल तिवारी ने किया। इस मौके पर अमरदास महाराज भोजला, श्रीमती लीला घनश्याम यादव, श्रीमती किरन सुरेश यादव सहित अनेकों ग्रामवासी मौजूद रहे। अंत में मुख्य यजमान मनोज यादव ने सभी का आभार व्यक्त किया।

रिपोर्ट – मुकेश वर्मा/राहुल कोष्टा

error: Content is protected !!