April 15, 2024

व्यापम घोटाले का सजा याफ्ता आरोपी निकला पेपर लीक कांड का सरगना : एसटीएफ और झांसी पुलिस टीम ने दबोचा

झांसी। 2017 में व्यापम घोटाले में जेल जा चुका सजा याफ्ता आरोपी निकला विभिन्न पेपर लीक कांड और अभ्यर्थियों को पास कराने वाले गिरोह का मास्टर माइंड। जिसे यूपी एसटीएफ और झांसी पुलिस ने दबोच लिया। झांसी में स्वाट और एसटीएफ की टीम को विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में पेपर लीक से लेकर अभ्यर्थियों को पास कराने तक के बड़े मामलों को अंजाम देने वाले गैंग के सरगना पर शिकंजा कसने में मंगलवार को सफलता मिली।यह व्यापम घोटाले का भी मुख्य आरोपी था। पेपर-लीक-गैंग-का-सरगनाइस मामले में पुलिस अधीक्षक नगर (एसपी सिटी) ज्ञानेंद्र कुमार सिंह ने इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में पेपर लीक से लेकर सॉल्वरों की मदद से प्रश्नपत्र हल कराकर अभ्यर्थियों को पास कराने के बड़े मामलों को अंजाम देने वाले गिरोह के सरगना अमिताभ रावत को स्वाट झांसी और एसटीएफ की टीम ने गिरफ्तार कर लिया है।उन्होंने बताया कि अमिताभ मध्यप्रदेश के मुरैना कर रहने वाला है और 2017 व्यापम घोटाले का भी यह मुख्य आरोपी था । इस मामले में अमिताभ को पांच साल की सजा हुई थी । लगभग तीन साल तक जेल में रहने के बाद यह जमानत पर रिहा हुआ था।पूछताछ के दौरान अमिताभ ने अपने सहयोगियों के रूप में जिन नामों को खुलासा किया है उन सभी के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज करायी गयी है। अमिताभ को जेल भेजा रहा है। बताया जा रहा है कि प्रतियोगी परीक्षाओं में बड़े घाटालों को अंजाम देने वाला अमिताभ का गैंग एसएससीजीडी परीक्षा में पेपर लीक कराने की फिराक में था लेकिन यह गैंग अपने मकसद में कामयाब हो पाता इससे पहले ही स्वाट और एसटीएफ टीम के हत्थे चढ़ गया।

रिपोर्ट – मुकेश वर्मा/राहुल कोष्टा

error: Content is protected !!