May 19, 2024

प्रभारी मंत्री के निर्देश पर जनपद में प्रभावी कार्यवाही पीएचसी अम्बावाय के एमओआईसी का तबादला, फार्मासिस्ट को प्रतिकूल प्रविष्टि बरुआसागर क्षेत्र में अवैध अतिक्रमण करने पर प्राथमिकी दर्ज

झांसी। प्रभारी मंत्री नंदगोपाल गुप्ता नंदी द्वारा मुख्य विकास अधिकारी शैलेष कुमार, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ अनिल कुमार के साथ दिनांक 13 जून 2022 को अतिरिक्त पी०एच०सी० अम्बावाय, विकास खण्ड बड़ागांव का निरीक्षण किया गया। प्रभारी मंत्री ने निरीक्षण के दौरान पाया गया कि पीएचसी अम्बावाय में एमओआईसी/प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ संतोष भोइया द्वारा अपने पदीय दायित्वों का निवर्हन नही करने व फार्मासिस्ट श्रीमती नीलू सचान द्वारा दवाईयों का रख रखाव सही ढंग से नहीं किया जा रहा है और न ही दवाइयों की प्रविष्टि का क्ंपसल बवदेनउचजपवद रजिस्टर बनाया गया है।उक्त रजिस्टर के विषय में प्रभारी मंत्री द्वारा फार्मासिस्ट श्रीमती नीलू सचान से पूछने पर उनके द्वारा अनिभिज्ञता जाहिर की गई तथा मंत्री द्वारा इस पर अप्रसन्नता जाहिर की गई। जिसकी प्रतिकूल प्रविष्टि फार्मासिस्ट श्रीमती नीलू सचान अपने पदीय दायित्वों का निर्वहन नही कर पाने के सम्बन्ध में कठोर कार्यवाही हेतु उच्चाधिकारियों एवं उप्र शासन को लिखित रूप में अग्रसारित किया जाये। साथ ही मंत्री द्वारा पीएचसी अम्बावाय के एमओआईसी का तबादला करने के निर्देश मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिये। प्रभारी मंत्री बरुआसागर क्षेत्र में अवैध अतिक्रमण करने पर प्राथमिकी दर्जझांसी। जनपद झांसी के क्षेत्र फुटेरा बरुआसागर लेखपाल नीरज आर्य द्वारा थाना प्रभारी थाना बरुआसागर को अवगत कराया गया कि मौजा फुटेरा बरुआसागर, झांसी के आराजी 7.62 मि0 रकवा 0.395 हे0 वर्तमान अभिलेखों में पहाड़ में दर्ज में शेष बचता है जिस पर पूर्व में सिकन्दर उर्फ मुन्ना पुत्र हरगोविन्द उम्र 75 वर्ष के लगभग के द्वारा बल्ली लगाकर झोपड़ी बनाने का प्रयास किया गया था जिसमें दिनांक 22/10/2021 को बल्लियों को पुलिस बल के साथ ग्राम प्रधान के समक्ष हटवा दिया गया था। मौके पर यथास्थित रखने के सम्बन्ध में सिकन्दर उर्फ मुन्ना व ग्राम प्रधान व ग्रामवासियो के हस्ताक्षर कराये गये जिसमें सिकन्दर उर्फ मुन्ना पुत्र स्व0 हरगोविन्द नि० जराय का मठ फुटेरा बरुआसागर द्वारा रातो रात में लकड़ी की बल्लियों पर पॉलीथीन झोपड़ीनुमा बनाकर पत्नी के साथ रहने लगा, जिसको मौके पर जाकर कब्जा हटाने हेतु कहा गया जिसमें मुन्ना उर्फ सिकन्दर पुत्र हरगोविन्द ने अपने चारो पुत्रों करन सिंह, बबलू उर्फ रणवीर सिंह, शिरोमन सिंह, देवी सिंह को बुला लिया। पुनः कब्जा हटाने को कहा गया तो इतने में सभी लोग उत्तेजित होकर कार्य सरकार में बाधा डालते हुये गालियां देते हुये मेरे ऊपर हमलावर हुये और कहे कि यहां से चले जाओ नही तो आपको छोड़ेगे नहीं। यहां पर मत आना हम लोग इस जमीन से कब्जा नही छोडेगें। सरकारी पहाड में दर्ज भूमि पर उपरोक्त व्यक्तियो के नाम अवैध कब्जे के सम्बन्ध में उचित कानूनी कार्यवाही करने का अनुरोध किया गया, ताकि अवैध कब्जे वाली भूमि सुरक्षित हो सके।

रिपोर्ट – मुकेश वर्मा/राहुल कोष्टा

error: Content is protected !!