May 19, 2024

चचेरे ससुर ने की थी निधि की हत्या, अवैध पिस्टल और कारतूसों का जखीरा, पत्नी ने बहु और पुत्र के साथ मिलकर की थी पति की हत्या

झांसी। संडे का दिन पुलिस के लिए गुड डे बनकर आया। पुलिस ने तीन तीन घटनाओं से पर्दाफाश करते हुए आरोपियों को दबोच लिया। पुलिस ने पति ने हत्या में पत्नी, पुत्र और बहु तथा रक्सा में हुई महिला हत्या की हत्या सहित कमलेश यादव की अवैध पिस्टल छुपाने के आरोप में आरोपी को गिरफ्तार कर कारतूसों का जखीरा बरामद कर लियारविवार को पुलिस लाइन में आयोजित पत्रकार वार्ता के दौरान एसएसपी शिवहरि मीना ने खुलासा करते हुए बताया की शनिवार की तड़के रक्सा थाना क्षेत्र में छत पर हुई महिला की गला रेत कर हत्या करने के आरोप में उसके चचेरे ससुर देवेंद्र सिंह राजपूत निवासी ग्राम बझेरा चिरगांव को सिजवाह तिराहे से गिरफ्तार कर उसके कब्जे से हत्या में प्रयुक्त चाकू बरामद कर लिया। पुलिस मुताबिक देवेंद्र मृतिका निधि से आशनाई करता था। उसे यह जानकारी मिल गई थी की निधि का 15 जून को कही और विवाह हो रहा है। यह बात उसे नागवार गुजरी इससे नाराज होकर घटना वाली रात देवेंद्र निधि के घर पहुंचा और उसे छत पर बात करने के बहाने बुलाकर गला रेत कर हत्या कर दी और फरार हो गया। वही दूसरे हत्या कांड ककरवई प्रकरण पर उन्होंने जानकारी देते हुए बताया की 31 मई को ग्राम कचिर निवासी खुशीराम के गुमशुदा हो जाने की उसके परिजनों ने थाना में सूचना दर्ज कराई थी।

इस प्रकरण में गुमशुदा की तलाश कर रही पुलिस को विवेचना दौरान परिजनों के विपक्ष साक्ष्य मिले जिस पर पुलिस ने परिजनों को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उन्होंने बताया की खुशीराम ने अपना गेंहू बकरिया बेच कर पैसा अन्य भाई और भतीजों को दे देने पर 31 तारीक को विवाद हुआ था। इसी विवाद के चलते खुशीराम का पुत्र सुरेंद्र उसकी पत्नी धन कुंवर तथा मृतक की पत्नी शांतिदेवी ने खुशीराम को मारपीट करते हुए बाड़े में ले गए और उसकी हत्या करके साक्ष्य छुपाने के लिए शव को सीवर टैंक में डाल दिया। किसी को शक न हो इसके लिए खुशीराम के गुमशुदा होने की सूचना थाना में दर्ज कराई थी। पुलिस ने तीनो को गिरफ्तार कर उनके कब्जे हत्या में प्रयुक्त लाठी बरामद कर ली। वही थाना सीपरी बाजार में दर्ज कमलेश हत्याकांड की विवेचना कर रही एस आई टी टीम ने तमाम साक्ष्य के आधार ग्राम सिजबाह निवासी जितेंद्र यादव के घर छापेमारी कर उसके घर से कमलेश यादव की अवैध पिस्टल और ढेर सारे खाकी तथा जिंदा कारतूसों का जखीरा बरामद हुआ है। पुलिस ने जितेंद्र के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उसे जेल भेज दिया। पुलिस के मुताबिक जितेंद्र के पास मृतक कमलेश यादव के अवैध कारतूस और पिस्टल कैसे पहुंची इसकी जांच चल रही है।

रिपोर्ट – मुकेश वर्मा/राहुल कोष्टा

error: Content is protected !!