June 16, 2024

गाैशालाओ की खराब स्थिति को सही कराने के लिए राष्ट्रभक्त संगठन ने जिलाधिकारी झांसी को सौंपा ज्ञापन

झांसी। जनपद में विभिन्न विभागों के अन्तर्गत कुल 274 से अधिक गऊशालायें संचालित है । इन गौशालाओं में एवं सड़क पर दिखने वाले गौवंश एवं घायल गौवश के परिवहन के लिए नगर निगम द्वारा एक वाहन व पशुपालन विभाग द्वारा एक वाहन लगाये हुये है इस कारण स्थिति यह बनती है कि गाय एक्सीडेंट में घायल होती है और अनेको बार 12 से 24 घण्टे तक गौवश सड़क पर तड़पता रहता है व उसके प्राण पखेरू उड़ जाते है पशुपालन विभाग की गाड़ी सुकवा – ढुकुवा गौशाला में स्थाई रूप से खड़ी रहती है पशुपालन विभाग, जिला पंचायत, नगर पंचायत घायल गौवंश के सम्बन्ध में अपने – अपने वाहन व वाहन पर एक चिकित्सक कुछ दवाईया हमेशा उपलब्ध रखे।

सरकार द्वारा पर्याप्त बजट इस हेतु दिया जा रहा जिसका दुरुपयोग किया जा रहा है नगर निगम के द्वारा मृत गौवंश को खाने के लिए सिर्फ एक वाहन है और नियम बना रखा है कि 12 घंटे में गौवंश उठाया जायेगा इस कारण से अनेको जगह गौवंश को कुत्ते नोचते मिलते हैं जो ठीक नहीं है स्पष्ट निर्देश जारी करने का कष्ट करें कि गोवंश मृत हो तो उसे 1 घण्टे के अंदर नगर निगम द्वारा बनाये गये शमशान घाट में ले जाकर विधिवत तरीके से दफन करे। घायल गौवश को भी उपचार सभी सम्बन्धित विभाग 30 मिनट के अन्दर उपलब्ध कराये। मेरे प्रस्ताव पर तत्कालीन जिलाधिकारी ने बस स्टेण्ड स्थित कैण्ट अस्पताल को 10 लाख रूपया देकर मोडिफाइड करने के आदेश दिये थे। अस्पताल के अंदर ठेकेदार के द्वारा एपेक्स भी बिछाये जाने थे परन्तु ठेकेदार के द्वारा पुराने एपेक्स तो रखवाये गये परन्तु आज तक एपेक्स बिछाये नहीं गये जबकि उसके द्वारा भुगतान पूरा ले लिया गया। अस्पताल के बाहर सुबह 4 बजे से मुख्य मार्ग पर अनाधिकृत मण्डी संचालित होने लगती है जिससे शहर से मेडिकल की ओर जाने वाले मरीजों को एवं इलाज हेतु आन वाले घायल गौवश को परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

पूर्ण रूप से अवैध पार्किंग स्टेण्ड संचालित है जो यहां से लेकर कब्रिस्तान तक व वहां से मण्डी कार्यालय तक 4-5 व्यक्ति चलने वाली मिनीडोर, टैम्पो, टैक्सी, मैजिक, आपे से यूनियन के नाम पर 20 रूपये प्रति चक्कर की अवैध वसूली करते है। यह वसूली हरिजन छात्रावास तक होती है । ऐसे लोगों के खिलाफ मुख्यमंत्री के आदेशानुसार मुकदमा कायम कर गैंगस्टर की कार्यवाही की जाये व पूरे क्षेत्र को अतिक्रमण से मुक्त कराया जाय। गौ संरक्षण की जिला स्तरीय बैठक हर महीने आहूत होती रही है । आंध्रा वामसी के आने के बाद इसे तीन महीने में कर दिया गया जो जनता के दो प्रतिनिधि बुलाये जाते थे उन्हें भी कभी – कभी सूचना नहीं दी गई और इन बैठको में सिर्फ बजट पास कराने तक सीमित कर दिया गया आपसे अनुरोध है कि प्रति माह इस बैठक को बुलाये जिससे मुख्यमंत्री जी की महत्वाकांक्षी योजना सुचारू रूप से चल सके। कसाई मण्डी स्थित अवैध बूचड़खानों को पूर्व में प्रशासन द्वारा बन्द करा दिया गया था परन्तु अब यहां फिर से अवैध बूचडखाने शुरू हो गये है जिनको बन्द कराने हेतु कठोर कार्यवाही करने की आवश्यकता है जिससे भविष्य में दोबारा इन लोगों द्वारा अवैध बूचड़खाने शुरू न किये जा सके। पूर्व में प्रशासन के लोगों पर हमला कसाई मण्डी में किया गया था जिन पर गैंगस्टर एवं एन ० एस ० ए ० के तहत कार्यवाही की जाये ।

रिपोर्ट – मुकेश वर्मा/राहुल कोष्टा

error: Content is protected !!