May 20, 2024

वैश्विक जगत में भारत की नई पहचान के लिए दृढ़ संकल्पित हो भारतीय मीडिया- अनुराग शर्मा बुंदेलखंड विश्वविद्यालय में नारद जयंती पर आयोजित हुआ पत्रकार सम्मान समारोह विश्व संवाद केंद्र झांसी एवं भास्कर जनसंचार और पत्रकारिता संस्थान ने संयुक्त रूप से किया आयोजन

झांसी। वर्तमान में जिस प्रकार भारत वैश्विक स्तर पर उभर रहा है उससे पश्चिम के कई देश और पश्चिमी मीडिया को चुनौती मिल रही है। विगत कई सालों से पश्चिमी मीडिया भारत की नकारात्मक छवि को वैश्विक स्तर पर प्रसारित करता रहा है। प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में पिछले 8 साल में काफी कुछ बदला है। वैश्विक स्तर पर भारतीय नेतृत्व की चर्चा हो रही है। लेकिन कुछ पश्चिमी मीडिया संस्थान अभी भी भारत की छवि को नुकसान पहुंचा रहे हैं। भारतीय मीडिया को इनका सामना कर भारतीय संस्कृति, गौरव, और चिंतन को वैश्विक स्तर पर स्थापित करने के लिए तैयार रहना पड़ेगा। उक्त विचार झांसी के सांसद अनुराग शर्मा ने नारद जयंती के उपलक्ष में विश्व संवाद केंद्र झांसी एवं भास्कर जनसंचार और पत्रकारिता संस्थान के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित पत्रकार सम्मान समारोह में बुंदेलखंड विश्वविद्यालय के हिन्दी सभागार में व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि एक समय समाचार पत्रों को भाषा पर पकड़ मजबूत करने के लिए आधार माना जाता था। समाचार विश्वसनीय एवं संपादकीय ज्ञान से भरे होते थे। लेकिन अब ब्रेकिंग न्यूज़ के दौर में समाचारों की विश्वसनीयता घटी है। सोशल मीडिया ने सभी को पत्रकार बना दिया है। ऐसे में जहां अवसर बढ़े हैं

वही चुनौतियां भी बढ़ी हैं। मीडिया को नकारात्मक की अपेक्षा सकारात्मक खबरों के अधिक प्रसार पर ध्यान देना चाहिए जिससे सकारात्मक समाज का निर्माण हो सके। इस अवसर पर उमेश शर्मा, प्रशांत शर्मा एवं सरिता सोनी को पत्रकारिता क्षेत्र में किए गए उत्कृष्ट कार्यों के लिए सम्मानित किया गया। कार्यक्रम के संरक्षक बुंदेलखंड विश्वविद्यालय के कुलपति मुकेश पांडे ने कहा कि भारतीय संस्कृति, चिंतन, दर्शन और इतिहास को मीडिया को सबके सामने लाना चाहिए। उन्होंने देव ऋषि नारद के संदर्भ में कहा कि उनका देवताओं और दानवों दोनों के साथ संबंध रहता था। लेकिन सूचनाओं एवं समाचारों का संप्रेषण वे हमेशा जनहित में करते थे। उन्होंने कहा कि पुराणों में उन्हें “भागवत संवाददाता” भी कहा गया है। नारद जी लगभग भारतीय संस्कृति के सभी पौराणिक ग्रंथों कि लिखने के पीछे प्रेरणा के रूप में रहे हैं। लोक कल्याण, जन कल्याण एवं लोक मंगल को आधार बनाकर अधर्म और अन्याय को समाप्त करने के लिए उनका निरंतर प्रयास जारी रहा। कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि विश्व संवाद केंद्र कानपुर के प्रांत प्रचार प्रमुख डॉ अनुपम ने विश्व संवाद केंद्र एवं राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रचार कार्य की विस्तृत रूपरेखा प्रस्तुत करते हुए कहा कि संघ अपने प्रारंभिक काल में सभी प्रकार के प्रचार कार्य से दूर रहता था। लेकिन कालांतर में संघ के विरुद्ध कई देश विरोधी संगठन दुष्प्रचार एवं नकारात्मकता फैला रहे हैं। ऐसे में ऐसे संगठन की आवश्यकता पड़ी जो इस दुष्प्रचार को रोकने का कार्य करे साथ ही राष्ट्र और समाज की सेवा के लिए किए जा रहे कार्यों से लोगों को अवगत कराए। विश्व संवाद केंद्र इसी उद्देश्य के साथ समाज में अपनी भूमिका का निर्वहन कर रहा है। हमारा उद्देश्य देश के प्रत्येक क्षेत्र में एक आम व्यक्ति द्वारा भी किए जा रहे सकारात्मक कार्य से समाज को परिचित कराना है। उन्होंने कहा नारद जयंती के उपलक्ष में पत्रकार सम्मान समारोह मनाने का उद्देश्य देश में पत्रकारिता की सुचिता, पवित्रता और स्वच्छता को बनाए रखना है। नारद जयंती के माध्यम से सकारात्मक समाचारों की पावन परंपरा को आगे बढ़ाने का कार्य विश्व संवाद केंद्र कर रहा है। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे झांसी मेडिकल कॉलेज के बाल रोग विभाग के विभागाध्यक्ष प्रोफेसर ओम शंकर चौरसिया ने कहा कि नारद सर्वोच्च ज्ञान देने के लिए जाने जाते हैं। उन्होंने कहा कि वर्तमान में मीडिया को खबरों के अन्वेषण की जगह उनका निर्माण कर रहा है। ऐसे में मीडिया अपने दायित्वों एवं समाज में चतुर्थ स्तंभ के रूप में अपनी जिम्मेदारी का सही से निर्वहन नहीं कर रहा है। मीडिया के ऊपर समाज निर्माण की महती जिम्मेदारी है। निश्चित ही ऐसे कार्यक्रमों से मीडिया सकारात्मक खबरों के प्रति प्रेरित हो सकेगा। इसके पूर्व उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्री असीम अरुण ने ऑडियो मैसेज के माध्यम से कहा की पत्रकार का काम सूचनाओं को सही रूप से आम जन तक पहुंचाना है। वर्तमान पत्रकारिता विशेषकर सोशल पत्रकारिता आज पूंजी मुक्त हुई है। इस अवसर को युवा पत्रकारों को एक चुनौती के रूप में लेकर कार्य करना चाहिए। कार्यक्रम का संचालन वरिष्ठ पत्रकार महेश पटेरिया एवं आभार महानगर प्रचार प्रमुख जयपाल ने दिया।इस अवसर पर विभाग संघचालक शिव कुमार भार्गव, सह विभाग कार्यवाह चौधरी धर्मेंद्र सिंह महानगर कार्यवाह मुकुल पस्तोर, पूर्व महानगर कार्यवाह सुरेश पुरोहित, वरिष्ठ स्वयंसेवक कुलदीप, पर्यावरण प्रमुख पंकज लवानिया, प्रोफेसर दिवेश निगम, डॉक्टर मुन्ना तिवारी, डॉ कौशल त्रिपाठी, डॉ ललित कुमार गुप्ता, डॉ रजनी गौतम, डॉ श्रीहरी त्रिपाठी, डॉ अजय कुमार गुप्ता, डॉ उमेश कुमार, नवीन चंद्र पटेल के साथ पत्रकारिता संस्थान के छात्र एवं छात्राएं उपस्थित रहे।

रिपोर्ट – मुकेश वर्मा/राहुल कोष्टा

ये भी देखें

error: Content is protected !!