February 27, 2024

मैक्स हॉस्पिटल वैशाली (गाजियाबाद) ने झांसी में कार्डियक सर्जरी ओपीडी खोलकर क्षेत्र के लोगों तक चिकित्सा सुविधा का विस्तार किया यूपी के शीर्ष कंसल्टेंट, कार्डियक सर्जन परामर्श देने के लिए हर महीने के तीसरे शुक्रवार को इस ओपीडी में आएंगे

झांसी। दिल्ली/एनसीआर और पश्चिमी यूपी के अग्रणी स्वास्थ्य संस्थान मैक्स सुपर स्पेशियल्टी हॉस्पिटल वैशाली (गाजियाबाद) ने आज झांसी के बुंदेलखंड सुपरस्पेशियल्टी हॉस्पिटल, मेडिकल तिराहा, ग्वालियर—कानपुर बायपास रोड, झांसी के सहयोग से अपनी कार्डियक सर्जरी ओपीडी सेवाएं शुरू की। मरीजों को अच्छी क्वालिटी की स्वास्थ्य सेवाएं देने के लक्ष्य की दिशा में यह ओपीडी इस संस्थान का एक और बड़ा कदम है। इस केंद्र पर दिल की बीमारियों के मरीजों को कार्डियोथोरैसिस और वैस्कुलर सर्जरी (सीटीवीएस) पर विशेषज्ञ सलाह और इलाज की सुविधा दी जाएगी। सीवीडी दिल और रक्त नलिकाओं के डिसआॅर्डर से जुड़ी बीमारियां हैं जिनमें कोरोनरी आर्टरी रोग और धमनी से जुड़ीं बीमारियां भी शामिल हैं। ये ओपीडी सेवाएं डॉ. अमित बाठला— कंसल्टेंट, कार्डियो—थोरैसिस वैस्कुलर सर्जरी (सीटीवीएस), मैक्स सुपर स्पेशियल्टी हॉस्पिटल, वैशाली (गाजियाबाद) और डॉ. निशेष जैन—निदेशक, बुंदेलखंड सुपर स्पेशियल्टी हॉस्पिटल, झांसी की मौजूदगी में शुरू की गईं। डॉ. अमित बाठला वयस्कों की सर्जरी तथा सीएबीजी—रेडो, कार्डियक वाल्व रिप्लेसमेंट, कोरोनरी आर्टरी बायपास ग्राफ्टिंग (सीएबीजी) समेत पैदाइशी हृदय रोगों की सर्जरी करने वाली बहुमुखी प्रतिभा के सर्जन हैं। डॉ. बाठला परामर्श के लिए हर महीने के तीसरे शुक्रवार को ओपीडी में रहेंगे। मैक्स सुपर स्पेशियल्टी हॉस्पिटल, वैशाली अपने अनुभवी डॉक्टरों तथा अन्य हेल्थकेयर प्रोफेशनल्स की टीम कार्डियो थोरैसिस तथा वैस्कुलर सर्जरी में अत्याधुनिक और विश्व स्तरीय सेवाएं देती है। अस्पताल में डायग्नोस्टिक नॉन—इनवेसिव, न्यूक्लियर स्कैन तथा सीटी इमेजिंग की सुविधा भी है और यह सब एक ही जगह उपलब्ध है। देश के उत्तरी हिस्से में कार्डियोवैस्कुलर रोगों के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। इसे देखते हुए मैक्स हॉस्पिटल ने झांसी में ये सेवाएं शुरू करने का फैसला किया है। इस मौके पर डॉ. अमित बाठला ने कहा, ‘लोग अक्सर सीने में दर्द, दबाव या भारीपन, जबड़े, बाएं कंधे, बाजू, कुहनी या पीठ में दर्द, सांस उखड़ने, ठंडा पसीना आने, मितलाहट और थकान, हल्का सिरदर्द या चक्कर आने की शिकायत करते हैं। ये सभी लक्षण अलग—अलग व्यक्तियों को अलग—अलग होते हैं। कई मरीजों को एक से ज्यादा लक्षण भी होते हैं और हमारे पास वे रोगों के अलग—अलग चरणों के दौरान आते हैं। उपयुक्त डायग्नोसिस के बाद डॉक्टर बता पाते हैं कि मरीज के लिए कौन सा सबसे अच्छा और सुरक्षित इलाज विकल्प होगा। यह ओपीडी शुरू होने से झांसी के लोग सर्वश्रेष्ठ सेवाएं प्राप्त कर सकेंगे और हम दिल की बीमारियों के बारे में हम जागरूकता बढ़ा पाएंगे। सर्जरी में कई तरक्की हुई है जिनमें एंडोवैस्कुलर सर्जरी, कम शल्यक्रिया वाली वैकल्पिक ओपन सर्जरी भी शामिल हैं। इनमें मरीजों को छोटा कट लगाना पड़ता है, रक्तस्राव कम होता है, रिकवरी जल्दी होती है और अस्पताल में भी कम समय रुकना पड़ता है।’ मैक्स हॉस्पिटल में सीनियर वीपी आॅपरेशंस डॉ. गौरव अग्रवाल ने कहा, ‘हमारा लगातार प्रयास रहता है कि लोगों को शीर्ष चिकित्सा सुविधाएं प्रदान की जाएं। हम दिल की बीमारियों और रोजमर्रा के कामकाज में इसके सीधे प्रभाव के बारे में जागरूकता बढ़ाने का प्रयास करते हैं। अस्पताल की कार्डियोथोरैसिस और वैस्कुलर सर्जरी यूनिट कार्डियक साइंस टीम का हिस्सा है जहां कार्डियोलॉजी, इंटेंसिविस्ट, कार्डियक सर्जन के परामर्शकों की बहुविभागीय टीम उपलब्ध रहती है और आपके इलाज के हर कदम पर आपके साथ रहती है। झांसी में ओपीडी खुलने से हम उम्मीद करते हैं कि हम इन बीमारियों से जूझ रहे उन लोगों को लाभ पहुंचा पाएंगे जो अपने इलाज के लिए दूसरे शहर की यात्रा करते हैं।’पिछले कुछ वर्षों के दौरान मैक्स सुपर स्पेशियल्टी हॉस्पिटल, वैशाली देश के विभिन्न क्षेत्रों में अंतरराष्ट्रीय मानकों की स्वास्थ्य सुविधाएं देने पर काम कर रहा है। अस्पताल मेरठ, चंदौसी, ग्वालियर, मुरादाबाद, कानपुर तथा आसपास के अन्य क्षेत्रों के निवासियों के लिए स्वास्थ्य शिविर, ओपीडी तथा जांच शिविर का आयोजन करता रहता है।

रिपोर्ट – मुकेश वर्मा/राहुल कोष्टा

error: Content is protected !!