May 24, 2024

पेपर लीक कांड के गैंग ओर छात्र सहित 32 गिरफ्तार, दर्जनों मोबाइल बरामद

झांसी। बलिया में हुए पेपर लीक कांड के बाद उठी आग अभी शांत भी नहीं हुई थी कि तभी बुंदेलखंड विश्वविद्यालय में भी पेपर लीक का एक मामला सामने आ गया 6 अप्रैल को बुंदेलखंड यूविश्वविद्यालय में फिजिक्स का प्रश्न पत्र लीक होने का मामला सामने आया था। यह घटना विश्वविद्यालय के ही परीक्षा भवन में हुई प्रथम पाली में सुबह 7 बजे शुरू हुई परीक्षा को 8:30 बजे के आस पास ही रोक दिया गया और इस परीक्षा को निरस्त कर दिया गया। आनन फानन में विश्वविद्यालय प्रशासन ने थाना नवाबाद मे रिपोर्ट दर्ज कराई थी। वही मामले को गंभीरता से लेकर डीएम एसएसपी के निर्देशन पर गठित स्वाट सर्व लांस टीमों ने ताबड़तोड़ दबिश देते हुए दो दर्जन से अधिक हिरासत में लिए थे। पूछताछ के बाद आज जिलाधिकारी और एसएसपी ने पेपर लीक कांड की घटना से जुड़े छात्र और लिपिक की गिरफ्तारी करते हुए 32 लोगों को गिरफ्तार कर प्रकरण का खुलासा किया। वही पुलिस की जांच जारी लगातार इस प्रकरण में जो फरार है उनकी भी गिरफ्तारी की जाएगी। शुक्रवार को पुलिस लाइन सभागार में आयोजित पत्रकार वार्ता के दौरान जिला अधिकारी रविंद्र कुमार, एसएसपी शिवहरि मीणा ने जानकारी देते हुए बताया की विश्विद्यालय के 6 अप्रैल को होने वाला पेपर भौतिक विज्ञान का आउट हो गया था। जिसके चलते विद्यालय प्रशासन ने परीक्षा निरस्त कर दी थी साथ इस संबंध में थाना नवाबाद मे रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी। रिपोर्ट दर्ज होने के बाद इस गैंग का पर्दाफाश करने में लगी स्वाट टीम सर्व लांस और नवाबाद पुलिस ने कॉलेज प्रशासन द्वारा पकड़े गए छात्र अजय भास्कर से पूछताछ की तो उसने बताया की उसे यह पेपर मोबाइल पर कुमारी आसमा ने दिया था। इसके बाद एक के बाद एक छात्र से पूछताछ और उनके मोबाइल व्हाट्सएप में पड़े पेपर से पूरे गैंग का पर्दाफाश होता चला गया। दो दर्जन से अधिक छात्रों से पूछताछ के बाद पुलिस इस के मास्टर माइंड के पास पहुंची। पुलिस को जानकारी हुई की यह पेपर बंगरा स्थित श्री राम विद्यालय के लिपिक राजदीप यादव निवासी कोतवाली के जुगायना मोहल्ला ने अपने कॉलेज के प्रबंध समिति के कोषाध्यक्ष आजाद निवासी हंसारी, चंद्रपाल निवासी निवासी ग्राम बूढ़ा, अध्यापक अनूप यादव वमरौली मोठ, चपरासी भगवान दास निवासी बंगरा, केंद्र व्यवस्थापक संजीव व संस्था के अध्यक्ष अरविंद यादव निवासी हासारी के सहयोग से खुद को आर्थिक लाभ पहुंचाने परीक्षा की सुचिता को भंग करने मोबाइल से प्रश्न पत्र की फोटो खींच कर व्हाट्सएप के माध्यम से सबसे पहले अपनी भतीजी मुस्कान यादव निवासी खाती बाबा को भेजा ओर कहा की जिसे भी प्रश्न पत्र की कॉपी भेजना पैसे लेकर भेजना। मुस्कान द्वारा यह प्रश्न पत्र कॉपी मोबाइल व्हाट्सएप के जरिए दर्जनों छात्रों के पास पहुंचा। इस प्रकार पूरी टीम ने इस गिरोह को पकड़ने में सफलता हासिल करने के बाद सभी छात्रों को गिरफ्तार किया। गिरफ्तार किए गए गैंग ओर छात्रों के नाम इस प्रकार है। अजय भास्कर निवासी तोडी फतहपुर, शीतल अहिरवार निवासी पाली पहाड़ी रक्सा, आकाश रायकवार निवासी सीपरी बाजार पहुज़ नदी पुल, सोरभा अहिरवार निवासी ग्राम डेली रक्सा, सचिन यादव मरोड़ा पूछ, सुरेंद्र प्रताप निवासी राजगढ़, नरेंद्र कुशवाह, मिथुन अहिरवार, आकाश कुमार, शुशील कुमार ,सक्षम, प्रशांत पांचाल, अजय निरंजन, आलोक यादव, प्रवल यादव, हर्ष वर्धन, मुस्कान यादव निवासी खाती बाबा, आसमा निवासी गली नंबर 9 कब्रिस्तान, आदित्य सोनी निवासी बड़ागांव गेट बाहर, स्वेता त्रिपाठी निवासी प्रेमनगर नगरा, अनूप यादव निवासी बमरोली मोठ, संजीव कुशवाह निवासी उल्दन, राजदीप यादव निवासी जुगायाना, युवराज सिंह कोछा भांवर सिमलिया, भगवान दास निवासी बंगरा, मोहित शर्मा निवासी शास्त्री नगर बबीना, मोहित शर्मा निवासी, रवि निवासी कबराई महोबा, विमल खरे निवासी समथर, नीतू प्रजापति निवासी करौंदी माता मंदिर थाना रक्सा, तेज़ प्रताप सिंह निवासी किलच्छ वारा मऊ रानीपुर, आजाद निवासी हसारि, चंद्रपाल सिंह यादव निवासी ग्राम बूढ़ा बताए गए। पुलिस टीमों ने इनके कब्जे से मोबाइल फोन और पेपर लीक होने के संबंधी दस्तावेज बरामद कर लिए है।

रिपोर्ट – मुकेश वर्मा/राहुल कोष्टा

error: Content is protected !!