May 24, 2024

नकल विहीन शांतिपूर्ण परीक्षा संपन्न होने पर डीएम, एसएसपी ने पुलिस, व स्कूल कॉलेज, प्रशासन को दी बधाई परीक्षा केंद्रों के प्रधानाचार्य/ व्यवस्थापकों को सीसीटीवी फुटेज सुरक्षित रखने के निर्देश


झांसी। जिलाधिकारी रविंद्र कुमार एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक शिवहरी मीणा ने संयुक्त रुप से जनपद में आयोजित बोर्ड परीक्षा को नकल भी शुचिता पूर्ण,पारदर्शी ढंग से संपन्न कराया जाने हेतु वर्चुअल मीटिंग की, जिलाधिकारी ने मीटिंग के दौरान अब तक जनपद में हुई बोर्ड परीक्षाओं की सफलता पर सभी को बधाई दी और निर्देश दिए की परीक्षा में शुचिता को बनाए रखा जाए, जिला प्रशासन की सर्वोच्च प्राथमिकता है कि जनपद में नकल विहीन, पारदर्शी और शांतिपूर्ण ढंग से बोर्ड परीक्षा का आयोजन हो।
जिलाधिकारी एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, झाॅसी द्वारा उ.प्र. बोर्ड परीक्षा के संबंध में नगर मजिस्ट्रेट, जिला विद्यालय निरीक्षक, समस्त जोनल मजिस्ट्रेट, सेक्टर मजिस्ट्रेट, केन्द्र व्यवस्थापक एवं बाह्य केन्द्र व्यवस्थापक द्वारा उ.प्र. बोर्ड परीक्षा-2022 के संबंध में वर्चुअल बैठक की गई।
बैठक में उन्होंने अभी तक परीक्षा के सकुशल, शुचितापूर्ण, नकल विहीन एवं शान्तिपूर्ण ढंग से सम्पन्न होने पर बधाई दी। उन्होंने कहा कि सम्पूर्ण परीक्षा को नकल विहीन एवं शुचितापूर्ण सम्पन्न कराना जिला प्रशासन की सर्वोच्च प्राथमिकता है।
उन्होंने निर्देश दिये कि सर्वप्रथम जिस कक्ष/स्ट्राॅग रूम में प्रश्न-पत्र अनुरक्षित हैं, उसमें स्टाफ के लोगों का आवागमन सीमित कर दिया जाये। कुछ सीमित लोगों को ही स्ट्राॅग रूम में प्रवेश की अनुमति दी जाये। यदि प्रधानाचार्य कक्ष में स्ट्राॅग रूम बनाया गया हो, तो प्रधानाचार्य अपना कक्ष प्रश्न-पत्रों की सुरक्षा के दृष्टिगत परीक्षा होने तक अन्यत्र स्थानान्तरित कर लें। उन्होंने निर्देश दिये कि सी.सी.टी.वी. की रिकाॅर्डिंग को सुरक्षित रखा जाये, ताकि समीक्षा हेतु अथवा किसी विचलन की स्थिति में उसका अवलोकन किया जा सके।
उन्होंने निर्देश दिये कि कुछ परीक्षा केन्द्रों में स्ट्राॅग रूम के अन्दर तो सी.सी.टी.वी लगाया गया है लेकिन स्ट्राॅग रूम के बाहर सी.सी.टी.वी नहीं लगाया गया है। अतः समस्त परीक्षा केन्द्रों पर स्ट्राॅग रूम के बाहर भी सी.सी.टी.वी लगाया जाये। परीक्षा उपरान्त में अवशेष प्रश्न-पत्रों के लिये एवं उत्तर पुस्तिका के लिये अलग से अलमारी की व्यवस्था कर ली जाये, ताकि प्रश्न-पत्रों की टेम्परिंग की संभावना को न्यून किया जा सके। उन्होंने निर्देश दिये कि परीक्षा केन्द्र पर 24 घण्टे पुलिस बल तैनात रहे। पुलिस बल द्वारा भोजन आदि ग्रहण करने के दौरान भी कम से कम एक पुलिस कर्मी तैनात रहना चाहिए। यदि परीक्षा केन्द्र पर पुलिस बल नहीं रहता है, तो केन्द्र व्यवस्थापक इसकी सूचना तत्काल उपलब्ध करायें।
उन्होंने निर्देश दिये कि समस्त प्रधानाचार्य अपने परीक्षा से सम्बन्धित स्टाफ को सख्त निर्देश निर्गत करें कि वे किसी भी प्रलोभन में आकर परीक्षा की शुचिता को धूमिल करने का कार्य न करें। अन्यथा की स्थिति में उनके विरूद्ध सख्त से सख्त कार्यवाही की जायेगी।
उन्होंने निर्देश दिये कि परीक्षा समाप्त होने के उपरान्त उत्तर पुस्तिकाओं को संकलन केन्द्र ले जाते समय इस बात का ध्यान रखें कि पुस्तिकायें पुलिस अभिरक्षा में संकलन केन्द्र ले जाई जायें। यदि किसी भी प्रकार की समस्या हो तो वे तत्काल जोनल मजिस्ट्रेट/जोनल पुलिस अधिकारी से सम्पर्क करें।
इस प्रकार उन्होंने परीक्षा के दौरान पूर्ण सतर्कता बरते जाने एवं परीक्षा को नकल विहीन, शुचितापूर्ण एवं शान्तिपूर्ण ढंग से सम्पन्न कराने हेतु विशेष बल दिया गया। इस कार्य में शिथिलता बरतने वाले अधिकारी/कर्मचारी के विरूद्ध सख्त कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये हैं।

रिपोर्ट – मुकेश वर्मा/राहुल कोष्टा

error: Content is protected !!