May 20, 2024

साक्षी राय को न्याय दिलाने सड़कों पर उतरे पत्रकार

झांसी। प्राइवेट स्कूल में फर्जी बाड़े का आरोप लगाकर हुए हंगामे की खबर को कवरेज करने के दौरान पत्रकार साक्षी राय के साथ हुई बदसलूकी मारपीट की घटना के बाद फर्जी तरीके से दर्ज कराई गई एफआईआर से पत्रकार जगत में आक्रोश फेल गया है। जनपद झांसी सहित उत्तर प्रदेश के कई जिलों में पत्रकारों ने आक्रोश व्यक्त करते हुए एफआईआर निरस्त कर साक्षी राय को न्याय दिलाने की मांग की है।झांसी, मऊ रानीपुर, महोबा, सहित कई जिलों में पत्रकार संगठनों ने मुख्य मंत्री को पत्र भेज कर बताया की साक्षी राय पत्रकार झांसी के एक स्कूल में फर्जी बाड़े के लगे आरोपों को खबर प्रकाशित करने के लिए अपने कैमरे कैद कर रही थी। तभी स्कूल के स्टाफ ने उनका मोबाइल छीन कर बदसलूकी करते हुए मारपीट की। जब इस घटना की उन्होंने थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई तो स्कूल प्रशासन ने अपनी गलती छुपाने के लिए स्कूल में लगे सीसीटीवी कैमरों के वह फुटेज छुपा लिए जिसमे उनकी करतूत कैद हुई और अपने पावर पोजिशन का गलत फायदा उठा कर फर्जी तरीके से पत्रकार साक्षी राय उनके परिजनों पर मुकदमा दर्ज करा दिया। सभी पत्रकारों ने मांग की है पूरे प्रकरण की निष्पक्ष जांच कर दोषियों के विरुद्ध कार्यवाही की जाए और पत्रकार साक्षी राय को न्याय दिलाया जाए।

रिपोर्ट – मुकेश वर्मा/राहुल कोष्टा

error: Content is protected !!