February 26, 2024

गेहू क्रय केन्द्र संचालित होगे 01अप्रैल से

झांसी। सम्भागीय खाद्य नियंत्रक, झाँसी सम्भाग चन्द्रमान यादव ने अवगत कराया है कि मूल्य समर्थन योजना के अन्तर्गत आगामी गेंहू खरीद 01 अप्रैल 2022 से सीधे कृषकों को उनके गेंहू का लाभकारी मूल्य उपलब्ध कराने हेतु गेहू क्रय केन्द्र खोलकर संचालित किया जाना प्रस्तावित है। जिसके अन्तर्गत शासन द्वारा गेंहू का समर्थन मूल्य रु० 2015 प्रति कु० निर्धारित किया गया है। कृषकों को गेंहू विक्रय के लिये खाद्य विभाग के पोर्टल fcs.up.gov.in पर ऑनलाइन पंजीकरण कराना आवश्यक होगा।
इस वर्ष ओ०टी०पी० आधारित पंजीकरण की व्यवस्था की गयी। जिसके लिये कृषक पंजीकरण के समय अपना वर्तमान मोबाईल नम्बर ही अंकित कराये, जिससे एस०एम०एस० द्वारा प्रेषित ओ०टी०पी० को भरकर पंजीकरण प्रक्रिया को पूर्ण करें। कृषक अपनी खतौनी में खाता संख्या पंजीयन में दर्ज कर अपने कुल रकबे एवं बोये गये गेंहू के तथा अन्य फसल के रकबे को अंकित करें संयुक्त भूमि की दशा में अपनी हिस्सेदारी की सही घोषणा पंजीयन में करें। कृषक अपना आधार संख्या, आधार कार्ड में अंकित अपना नाम आदि सही अंकित करें।
गेहू विक्रय के समय क्रय केन्द्रों किसान के स्वयं उपस्थित न होने पर किसान द्वारा पंजीकरण के समय अपने पंजीकरण प्रपत्र में परिवार के नामित सदस्य का विवरण एवं आधार नम्बर फीड करना अनिवार्य होगा। जो कृषक खरीफ विपणन वर्ष 2021-22 में धान खरीद हेतु पंजीकरण करा चुके हैं, उन्हें गेंहू विक्रय हेतु पुनः पंजीकरण कराने की आवश्यकता नहीं है, परन्तु उक्त पंजीकरण को संशोधन कर या बिना संशोधन के लॉक करना होगा।
कृषक का बैंक खाता आधार सीडेड (अर्थात बैंक खाता आधार से जुड़ा हो) एवं बैंक द्वारा एन०पी०सी०आई० पोर्टल पर मैप्ड व सक्रिय होना आवश्यक है। बैंक खाता सक्रिय होने हेतु आवश्यक है कि बैंक खाते में पिछले तीन माह में लेन-देन किया गया हो। कृषक गेहू विक्रय के उपरान्त केन्द्र प्रभारी से पावती अवश्य प्राप्त कर लें।
उन्होने कृषकों से अपील की है कि वे अपना गेहूँ सुखाकर साफ-सुथरा करके कय केन्द्र पर विक्रय हेतु आयें तथा गेहूँ विक्रय के समय किसी भी असुविधा एवं शिकायत होने पर खाद्य विभाग के टोल फ्री सं०-1800-1800-150 पर सम्पर्क कर सकते हैं।

रिपोर्ट – मुकेश वर्मा/राहुल कोष्टा

ये भी देखें

error: Content is protected !!