May 24, 2024

पेंशनर प्रकरणों के निस्तारण में अधिकारियों की संवेदनहीनता पर मण्डलायुक्त का चाबुक

झांसी। मण्डलीय पेंशन अदालत का आयोजन कमिश्नरी सभागार में मण्डलायुक्त डॉ अजय शंकर पाण्डेय की अध्यक्षता में किया गया, जिसमें कुल 10 वादों की सुनवाई की गई। सुनवाई के दौरान 06 प्रकरणों का मौके पर ही निस्तारण किया गया, शेष 04 प्रकरणों के निस्तारण हेतु सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिये। पेंशन अदालत में सेवानिवृत्त कर्मियों के पेंशन सम्बन्धी प्रकरणों की जनसुनवाई करते हुये लोक निर्माण विभाग से सम्बन्धित प्रकरण में वादी के रुप में पेंशनर तो उपस्थित हुये लेकिन अधिशाषी अभियंता पीडब्ल्यूडी के अनुपस्थित रहने पर कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुये वादी के अनावश्यक आवागमन में खर्च हुये 400 रुपये की धनराशि सम्बन्धित अधिशाषी अभियंता पीडब्ल्यूडी के वेतन से कटौती कर वादी को उपलब्ध करायी जाने के निर्देश दिये।मण्डलीय पेंशन अदालत में अधिशासी अभियन्ता निर्माण खण्ड-1 (प्र0प0) लो0नि0वि0 झॉसी, प्रधानाचार्य राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान झॉसी अनुपस्थित रहने पर मण्डलायुक्त ने कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुये सम्बन्धित अधिकारियों (अधिशासी अभियन्ता लोनिवि एवं आईटीआई प्रधानाचार्य) का वेतन रोकने के निर्देश दिये। बन्दोबस्त अधिकारी चकबन्दी जालौन स्थान उरई विलम्ब से उपस्थित हुये। उन्होने स्पष्ट निर्देश दिये कि पंेशन सम्बन्धी प्रकरणों के निस्तारण में अनावश्यक रुप से वादी को परेशान करने वाले सम्बन्धित अधिकारियों के विरुद्व सख्त कार्यवाही की जायेगी।बैठक में अपर आयुक्त (प्रशासन) श्री सर्वेश कुमार दीक्षित, अपर जिलाधिकारी (वि0/रा0) झॉसी श्री राम अक्षयवर चौहान, संयुक्त निदेशक पेंशन/मुख्य कोषाधिकारी झॉसी रामपाल, सहायक लेखाधिकारी कैलाश कुमार एवं सचान संजीव व सहायक लेखाकार राहुल शर्मा के अतिरिक्त अन्य विभागीय/कार्यालयाध्यक्ष जनपद झॉसी, ललितपुर, जालौन स्थान उरई के साथ-साथ सेवानिवृत्त कर्मचारियों ने वादी के रूप में प्रतिभाग किया।

रिपोर्ट – मुकेश वर्मा/राहुल कोष्टा

error: Content is protected !!