May 20, 2024

देवी स्वरूपों में कन्याओं की हुई पूजा व वंदना, महायज्ञ में अर्पित की आहुतियां श्री दिव्य शक्ति सहस्त्र चंडी महायज्ञ में उमड रहे हैं श्रद्धालु

झांसी। लक्ष्मी तालाब स्थित प्राचीन सिद्ध पीठ श्री महाकाली विद्यापीठ में आयोजित श्री दिव्य शक्ति सहस्त्रचंडी महायज्ञ में श्रद्धालुओं ने देवी स्वरूपों में कन्याओं का पूजन किया। इसके उपरांत महायज्ञ में आहुतियां अर्पित की। बनारस के यज्ञ आचार्य अनुज कृष्ण शास्त्री ने कहा कि मां भगवती की आराधना मनुष्य को समस्त भौतिक एवं आध्यात्मिक उन्नति प्रदान करती है। धार्मिक कार्यक्रम में श्रद्धालुओं ने नौ देवियों के स्वरूप धारण किए कन्याओं का विधि विधान से पूजन किया। उनके चरण धोकर, तिलक वंदना की और आशीर्वाद प्राप्त किया। कार्यक्रम में डीआईजी जोगेंद्र सिंह भी सपरिवार शामिल हुए और मां महाकाली की पूजा कर महायज्ञ में आहुति अर्पित की। इस मौके पर उन्होंने कहा कि भारतीय धर्म एवं संस्कृति में मां महाकाली की उपासना का व्यापक महत्व है। वह अपने भक्तों की सभी मनोकामनाएं पूर्ण करती हैं। महायज्ञ के उपरांत सभी श्रद्धालुओं ने शंख, झालरों की मधुर ध्वनि पर आरती की और कोरोनावायरस की समाप्ति की प्रार्थना की। इस अवसर पर बनारस के आचार्य मनोज रावत, आचार्य सुशील शास्त्री, आचार्य निशांत शास्त्री, आचार्य दीप नारायण शास्त्री, आचार्य आकाश शास्त्री, यजमान अभि, अभिलाषा, गोपाल त्रिवेदी, सोनू साहू, प्रियता पियूष रावत, रवि शरणागत, सत्यम महाराज, निर्मला, सुरेंद्र प्रजापति, निशांत, मनीष, अक्षत त्रिवेदी, नितिन, आकाश, पंकज, अंकुश, नेहा, दीक्षा, साक्षी, राम नारायण अग्रवाल, हरिश्चंद्र अग्रवाल, श्याम सुंदर, अमरपाल मौर्य आदि मौजूद रहे। संचालन समाजसेवी पीयूष रावत ने किया और आभार अमित रावत ने व्यक्त किया।

रिपोर्ट – मुकेश वर्मा/राहुल कोष्टा

ये भी देखें

error: Content is protected !!