March 4, 2024

रेलवे स्टेशन पर खुलेआम बिक रही प्रतिबंधित खाद्य सामग्री माफिया अन्ना का फैला मकड़जाल

झांसी। इन दिनों वीरांगना रानी लक्ष्मी बाई रेलवे स्टेशन पर खुले आम प्रतिबंधित खाद्य सामग्री बिक रही। इस सामग्री को बेचने वाले भी पूर्ण रूप से अवैध है। यह अवैध कारोबार अन्ना माफिया के संरक्षण में बताया जाता है। बताया जा रहा की इसके तार रेलवे के काफी बड़े स्तर तक जुड़े है। इसलिए अवैध वेंडर बेखौफ होकर रेलवे स्टेशन के प्लेट फार्म और ट्रेन के बोगियों के अंदर घुसकर सामग्री ऊंचे दामों में बेच कर यात्रियों को लूटने का कार्य करते है। दिन भर रेलवे ओर यात्रियों की सुरक्षा का दंभ भरने वाली आर पी एफ और जीआरपी भी अन्ना माफिया के अवैध कारोबार और उसे करने वालों को देख कर नजर अंदाज कर देती है।सूत्रों से मुताबिक वीरांगना रानी लक्ष्मी बाई रेलवे स्टेशन पर आई आर सीटीसी की ड्रेस में अवैध वेंडर रेलवे स्टेशन और ट्रेन की बोगियों में घुस कर प्रतिबंधित खाने की थालिया, पेठा, ओर आइस्क्रीम और गुटखा बीड़ी सिगरेट की बिक्री बेधड़क होकर खुले आम कर रहे है। इन अवैध से पूछताछ करने पर यह कोई स्टेशन पर बिक्री का ठोस प्रमाण न दिखा कर सीधे अन्ना माफिया का नाम लेते है। सूत्रों का कहना है की रानी लक्ष्मी बाई रेलवे स्टेशन पर फैले अवैध कारोबार और अवैध वेंडर माफिया अन्ना के संरक्षण में पलते है। रेलवे के निष्पक्ष अधिकारी अवैध कारोबार के खिलाफ कई बार अभियान चला चुके लेकिन कुछ भ्रष्ट लोगों ओर माफिया अन्ना की मिली भगत उनके अभियान पर पानी फेरने का काम करते है। अधिकारी भी कई बार यह पता लगाने की कोशिश कर चुके आखिर यह अन्ना कौन है। सूत्रों का कहना है स्टेशन पर होने वाला यह अवैध कारोबार का कुछ हिस्सा ऊपर तक जाता है इसलिए अन्ना माफिया के खिलाफ और उसके कारोबार के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं होती। वही अवैध खाद्य सामग्री बिक्री में आइस्क्रीम का कारोबार भी जुड़ गया है। यह एस्क्राइम भी रेलवे स्टेशन के अंदर और बोगियों में अवैध रूप से बेची जा रही है। आखिर रेलवे के बड़े अफसर कयो इस अवैध कारोबार के खिलाफ अभियान नही चलाते। आखिर कब तक रेल यात्री को यह माफिया लूटते रहेंगे और कब तक प्रतिबंधित सामग्री बेच कर रेलवे को लाखो करोड़ो का चूना लगाया जाएगा यह बड़ा सवाल बना हुआ है।

रिपोर्ट – मुकेश वर्मा/राहुल कोष्टा

error: Content is protected !!