April 15, 2024

डाॅ० संदीप ने एक और बहन के पैर पखारकर किया विदा


झाँसी। संघर्ष सेवा समिति के बढ़ते परिवार के क्रम में आज एक और बहन का आगमन हुआ, बड़ागांव गेट बाहर निवासी वन्दना अहिरवार जिनके पिता बबलू अहिरवार शारीरिक रूप से दिव्यांग हैं संघर्ष सेवा समिति कार्यालय पहुंची। जहां उन्होंने अपने विवाह के सम्बंध में समिति के संस्थापक डॉ० संदीप सरावगी से वार्तालाप की जिसमें डॉक्टर संदीप ने वंदना को सुसज्जित कर बहन के रूप में विदा करने का आश्वासन दिया। आज विवाह के दिन वंदना जनपद के प्रतिष्ठित ब्यूटी पार्लर कलर्स ब्यूटी पार्लर में तैयार होकर संघर्ष सेवा समिति कार्यालय पहुंची जहां छोटी बहन के रूप में वंदना के पैर पखारे गये इसके पश्चात उपहार देकर विदा किया। वंदना ने कहा डॉक्टर संदीप द्वारा भाई के रूप में मिले प्यार से अविभूत हूं यह मेरे लिए बहुत ही मार्मिक क्षण है, संदीप भईया बहुत अच्छा काम कर रहे हैं मैं ईश्वर से प्रार्थना करती हूँ भईया दीर्घायु हों और सदा स्वस्थ रहें। वहीं डॉक्टर संदीप ने कहा विवाह के पूर्व किसी कन्या के पैर पखारना पुण्य कर्म है आज की आधुनिकता को छोड़कर यदि हम किसी महिला को बहन या बेटी के रूप में देखते हैं और उसी अनुसार कर्म करते हैं तो समस्याओं में उन बहन बेटियों का आशीर्वाद काम आता है। अभी तक हम सैकड़ों बहनों को विदा कर चुके हैं और आगे भी इस कार्य को अनवरत जारी रखेंगे। इस अवसर पर मास्टर मुन्नालाल, रानी कुशवाहा, रणवीर यादव, शाहरुख खान, शेख अख्तर, समीर खान, रविन्द्र सिंह, संदीप नामदेव, अनुज प्रताप सिंह, बसंत गुप्ता, राजू सेन, सुशांत गेड़ा, राकेश अहिरवार आदि उपस्थित रहे।

रिपोर्ट – मुकेश वर्मा/राहुल कोष्टा

error: Content is protected !!