April 15, 2024

सकल दिगंबर जैन समाज झांसी द्वारा आयोजित विन्यांजलि सभा में उमड़ी आचार्य श्री के भक्तो की भारी भीड़

झांसी। दीनदयाल सभागार में आयोजित विनयांजलि सभा का आयोजन आचार्य विद्यासागर जी के परम् प्रभावक शिष्य पूज्य मुनि श्री अविचल सागर जी एवम् आर्यिका प्रशममति, एवम् आर्यिका उपशमति के सान्निध्य एवम् उत्तर प्रदेश विधान परिषद के सभापति कुंवर मानवेंद्र सिंह जी के मुख्य आतिथ्य में किया गया। जन जन के आराध्य संत शिरोमणि आचार्य विद्यासागर जी जिनका समाधि पूर्वक देव लोक गमन गत १८ फरवरी को हो गया था, आज सम्पूर्ण देश के हर कस्बे व नगरों में एक ही समय में विनयांजलि सभाओं का आयोजन किया गया। इसी तारतम्य में आयोजित विनयांजलि सभा की शुरुआत सौरभ जैन एक्सिस बैंक के मंगलाचरण एवम महिला मंडल विद्यापूर्ण द्वारा भावपूर्ण अभिव्यक्ति द्वारा विन्यांजली की प्रस्तुति देकर हुई।इस अवसर पर स्थानीय सांसद अनुराग शर्मा ने पूज्य गुरुदेव के प्रति विन्यांजलि व्यक्त करते हुए उन्हें विश्वगुरु निरूपित किया, जैन साधुओं की कठिन तपश्चर्या से प्रभावित नगर विधायक रवि शर्मा ने कहा कि जीवन में यदि कोई गुरु बनाना है तो वह जैन संत को अपना गुरु बनाए,पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रदीप आदित्य ने पूज्य गुरुदेव से मिले दिशा निर्देशों का स्मरण कर विनयांजलि अर्पित की। भाजपा जिलाध्यक्ष हेमंत परिहार ने स्वयं को सौभाग्य शाली बताया कि उन्हें ललितपुर प्रवास के दौरान पूज्य गुरुदेव का आशीर्वाद मिला, पूर्व मंत्री रविन्द्र शुक्ला ने आचार्य को देश की श्रेष्ठतम विभूति निरूपित किया, पूर्व महापौर रामतीर्थ सिंघल आचार्य के कृतित्व पर बोलते हुए भावविह्वल हो उठे, धर्माचार्य हरिओम पाठक ने आचार्य के प्रति समूर्ण निरामिष समाज की ओर से विन्यांजली देते हुए आचार्य श्री का गमन सुमेरू पर्वत की ओर बताया। इस अवसर पर नगर के अनेकों राजनेताओं, किरण राजू बुक्सेलर, प्रदीप सरावगी , सर्वधर्म सभा के फादर सदानंद, भोद्ध भिक्षु भंते जी, चिंतक विचारक मोहन नेपाली, नरोत्तम स्वामी, मेडिकल कॉलेज प्राचार्य एन एस सेंगर, प्रशिक्षु आई पी एस अंतरिक्ष जैन, व्यापारी नेता संजय पटवारी, राजीव जैन सिर्स, जैन समाज के अध्यक्ष अजित जैन, जी एस टी कमिश्नर अजीत सिंह सहित अनेकों लोगों ने विचार व्यक्त किए।उत्तरांचल तीर्थक्षेत्र कमेटी के महामंत्री प्रवीण जैन ने आचार्य श्री के हिमालय से जीवन चारित्र का संपूर्ण वृत्तांत प्रस्तुत किया।मुख्य अतिथि सभापति विधान परिषद कुंवर मानवेंद्र सिंह ने आचार्य विद्यासागर जी को भारत भूमि पर कठोर तपस्या करने वाले महान संत बताया एवम आचार्य श्री की गौ माता के प्रति आस्था एव उनकी प्रेरणा से खुलवाई गई हजारों गौशालाओ के संचालन की गौरव गाथा सुनाई।इस अवसर पर पूज्य मुनि श्री अविचल सागर जी ने अपने दीक्षागुरु आचार्य विद्या सागर जी के प्रति अपनी कृतज्ञता प्रकट करते हुए उनके साथ सानिध्य में बिताए समय के संस्मरण याद किए।सभा में विशेष रूप से भगवान महावीर लोक कल्याण समिति के अध्यक्ष ललित जैन, भारतीय जैन मिलन के अध्यक्ष सुभाष जैन सत्यराज, अशोक जैन रतनसेल्स, जैन सोशल ग्रुप के अध्यक्ष अभिनंदन मोदी,गौरव जैन नीम, दिव्यांश जैन, पूर्व सभासद राजेश जैन सहित हजारों नगरवासी उपस्थित हुए।सभा का संचालन सौरभ जैन सर्वज्ञ एवम पत्रकार वासु जैन ने किया अंत में आभार वरुण जैन व यश सिंघई ने जताया । *विनयांजलि सभा में जैन समाज के ये संगठन शामिल रहे।*दया भावना फाउंडेशन, दि.जैन महासमिति,श्री पावागिरी शिक्षण संस्थान (पंजी.), श्री भगवान लोक कल्याण समिति (पंजी.), भारतीय जैन मिलन (समस्त शाखाएं), पुलक जन चेतना मंच (समस्त शाखाएं), जैन महिला जागृति मंच (समस्त शाखाएं), उत्तरांचल तीर्थक्षेत्र कमेटी, दि.जैन सोशल ग्रुप, श्रमण चरण सेवक संघ, विशुद्ध चेतना संघ, विमर्श जागृति मंच, विनिश्चय ग्रुप, जैन युवा संघ नगरा, वीर सेवादल, वर्धमान सेवा समिति, मुनि सेवा समिति नगरा, गुरु भक्त मिलन, गुरु सेवा संघ, दिगम्बर जैन महिला मण्डल, दिगम्बर जैन पंचायत समिति,गांधी रोड, प्रबंध कार्यकारिणी समिति सदर बाजार, दीनदयाल नगर,अशोक संफ्रान सिटी, नगरा, सीपरी बाजार, गुदरी मंदिर, कटरा मंदिर, चंद्रप्रभु जिनालय, कैलाश रेजीडेंसी, राजगढ़ की जैन समाज के लोग उपस्थित रहे।

रिपोर्ट – मुकेश वर्मा/राहुल कोष्टा

error: Content is protected !!