May 20, 2024

गहोई दिवस पर डॉ० संदीप के मुख्य आतिथ्य में निकाली गई विशाल शोभायात्रा

झाँसी। गहोई समाज नौगाँव द्वारा गहोई दिवस के उपलक्ष्य में नगर में भव्य शोभा यात्रा निकाली गई, जिसमें घोड़ा, बग्घी, बैण्ड, डीजे के साथ मथुरा से आये हुए कलाकारों एवं बच्चों द्वारा आकर्षित विभिन्न स्वारूपों के द्वारा झांकियां सजाई गयीं एवं नगर के विभिन्न मार्गों से होते हुए सजातीय बन्धुओं एवं महिलाओं व बच्चों ने रामराजा पैलेस में कार्यकम किया। कार्यकम के अन्तर्गत मंचासीन में मुख्य अतिथि संदीप सरावगी, सपना सरावगी, विशिष्ट अतिथि के रूप में धर्मेन्द्र कुचया, सपना कुचया, एवं अभय, शिवम, कारखमऊ रहे एवं छतरपुर गहोई समाज के अध्यक्ष प्रेम रूसिया एवं एस०डी० कुचया महामंत्री किशन सेठ मंच पर रहे। अध्यक्षता राजा रावत नगर गहोई बरिष्ठ अध्यक्ष अरविन्द्र रावत, संजू मोर, महासभा से एवं विंध्य क्षेत्रीय उपाध्यक्ष अशोक बृजपुरिया, महिला मण्डल उपाध्यक्ष शोभना वहरे, मंदिर ट्रस्ट अध्यक्ष रामगोपाल मोर, नवयुवक मण्डल अध्यक्ष मनीष वहरे एवं वरूण कस्तवार, दर्पण वैश्य समाचार पत्र के रहे। कार्यक्रम का सफल संचालन राहुल रूसिया एवं कार्यक्रम संयोजक कृष्णा नौरईया कार्यकम किया गया। दिलीप नगरिया, भोले रेज़ा, रामजी नौगरैया, महेश नगरिया, आशुतोष नगरिया, मोनू नौगरैया, हर्ष सोनी, धीरज नौगरैया द्वारा सभी मंचासीन अतिथियों का फूल माला से स्वागत किया गया। कार्यक्रम में बाबूलाल मातेले, डॉ. महेश पहारिया, दिनेश मतेले, नीलू-सरिता रावत, रश्मि रावत, रीता मातेले, सुमन मातेले, धीरेन्द्र रेज़ा, अरविन्द्र तिपरसानियां, रामाधार नीखरा, संदीप मातेले, मनीष मोर, मनोज मोर, मृदुल नौगरैया, सकूमोर, राजू कुचया कार्यकम के अन्तर्गत सोनाली गुप्ता डी०एस०पी०, कमलेश गेड़ा पटवारी नौगाँव, अभिषेक बृजपुरिया को मोमेन्टो अतिथियों द्वारा सम्मानित किया गया। बच्चों को मोमेन्टो द्वारा सम्मानित किया गया। संजय मोर को गहोई रत्न से नवाज़ा गया। कार्यकम में सभी गणमान्य सदस्यों एवं महिलाओं व बच्चों ने भाग लिया। कार्यक्रम में अतुल वेहरे का सराहनीय कार्य किया गया। सभी अतिथियों का मोमेन्टों द्वारा सम्मान किया गया। इस अवसर पर समाजसेवी डॉ० संदीप सरावगी ने कहा गहोई वैश्य समाज विभिन्न व्यवसाय में लिप्त है एवं व्यापार के माध्यम से देश को आर्थिक मजबूती प्रदान कर रहा है। लंबे समय से यह समाज देश हित में कार्य करता आया है। व्यापारी वर्ग ने विपत्ति के समय लोगों को कई सुविधाएं उपलब्ध कराई हैं। चाहे वह कोरोना काल हो या किसी व्यक्ति विशेष पर कोई समस्या आन पड़ी हो, सामाजिक और सांस्कृतिक क्षेत्र में भी व्यापारी वर्ग आर्थिक सहयोग करता आया है। आज के आपाधापी भरे समय में हर व्यक्ति का जीवन संघर्ष पूर्ण है। परंतु हमें समाज के लिए भी कुछ समय निकालना अत्यंत आवश्यक है । क्योंकि जो समाज अपने सांस्कृतिक मूल्यों से भटक जाता है। उसे विखंडित होने में समय नहीं लगता। कार्यकम में अरविन्द रावत द्वारा अभार व्यक्त कर समापन किया गया।

रिपोर्ट – मुकेश वर्मा/राहुल कोष्टा

ये भी देखें

error: Content is protected !!