June 16, 2024

जनपद में दिनांक 14 अगस्त, 2023 को विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस’ का होगा भव्य आयोजन

झांसी। जिलाधिकारी रविंद्र कुमार ने अवगत कराते हुए कहा कि विगत वर्ष की भाँति भारत विभाजन के दौरान अपना प्राण न्यौछावर करने वाले लोगों की स्मृति में दिनांक 14 अगस्त, 2023 को ‘विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस का आयोजन जनपद में बड़ी भव्यता के साथ मनाया जा रहा है। विकास भवन सभागार में आयोजित बैठक में जिलाधिकारी ने कहा कि देश का विभाजन किसी विभीषिका से कम नहीं था। भारत के लाखों लोगों ने बलिदान देकर आजादी प्राप्त की थी। ऐसे समय पर देश का दो टुकड़ों में बँट जाने का दर्द लाखों परिवारों में एक गहरे जख्म की तरह घर कर गया है। इसी समय बंगाल का भी विभाजन हुआ। इसमें बंगाल के पूर्वी हिस्से को भारत से अलग कर पूर्वी पाकिस्तान बना दिया गया था; जो कि सन् 1971 में बांग्लादेश के रूप में एक स्वतंत्र राष्ट्र बना। भारत के इस भौगोलिक बंटवारे ने देश के लोगों को सामाजिक, सांस्कृतिक, आर्थिक तथा मानसिक रूप से झकझोर दिया था। ‘विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस हमें न सिर्फ भेद-भाव, वैमनस्य एवं दुर्भावना को खत्म करने की याद दिलायेगा बल्कि इससे एकता, सामाजिक सद्भाव और मानव सशक्तिकरण की प्रेरणा मिलेगी। जिलाधिकारी ने बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा आजादी का अमृत महोत्सव’ अभियान के अवसर पर सम्पूर्ण प्रदेश में विभिन्न आयोजनों कार्यक्रमों के साथ दिनांक 14 अगस्त, 2023 को “विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस के अवसर पर जनपद में विभिन्न कार्यक्रमों की रूपरेखा तैयार की गई है जो निम्नवत् है। विभाजन विभीषिका के दौरान विस्थापित परिवारों के सदस्यों को आमंत्रित किया जाये एवं उनके साथ त्रासदी के दौरान प्राणोत्सर्ग करने वाले लोगों की याद में दो मिनट की मौन श्रद्धांजलि दी जाये। जनपद मुख्यालय में जिला प्रशासन द्वारा किसी बड़े सभागार में विभाजन विभीषिका से संबंधित अभिलेख प्रदर्शनी का आयोजन किया जा रहा है, जिसमें तत्कालीन घटनाक्रम के फोटो, अखबारों की कतरनें, साहित्य, राजकीय अभिलेख, विस्थापित परिवारों की संरक्षित सामग्री आदि का प्रदर्शन किया जाएगा। अभिलेख प्रदर्शनी सम्बन्धित सामग्री उ0प्र0 राजकीय अभिलेखागार द्वारा सॉफ्ट कापी के माध्यम से ई-मेल के माध्यम से उपलब्ध करा दी जायेगी। जिलाधिकारी ने बताया कि उक्त स्थल पर विभाजन विभीषिका से प्रभावित विस्थापित परिवारों को भी प्रर्दशनी स्थल पर आने के लिए अनुरोध किया जाये। जिससे वे अपने परिवार पर बीते कष्टों को शेयर कर सकें। प्रदेश के सभी जनपदों सहित जनपद झांसी में भारत-पाकिस्तान विभाजन विभीषिका से जुड़ी हुई फिल्मों / डाक्यूमेंट्री का विद्यालयों/ महाविद्यालयों/ विश्वविद्यालयों में एवं प्रदर्शनी स्थल पर प्रदर्शन किया जायेगा। इन प्रदर्शनियों में बारी-बारी से विभिन्न शैक्षणिक संस्थानों के विद्यार्थियों का भ्रमण कराया जाये एवं उन्हें इस ऐतिहासिक घटना के प्रति संवेदनशील व जागरुक किया जाये। इसके अतिरिक्त स्थानीय प्रकाशकों/पुस्तक विक्रेताओं के सहयोग से सन 1947 में भारत- पाकिस्तान विभाजन विभीषिका से जुड़ी हुई पुस्तकों की प्रदर्शनी भी लगायी जाए। जिलाधिकारी ने उक्त कार्य में विभिन्न सामाजिक व गैर सरकारी संगठनों जैसे सिंधी काउसिंल आफ इंडिया, उत्तर प्रदेश सिंधी सभा, उत्तर प्रदेश सिंधी अकादमी, सनातनी पंजाबी महासभा आदि का सहयोग भी लिया जाने का सुझाव दिया। 14 अगस्त 2023 को विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस की की जानकारी देते हुए जिलाधिकारी ने बताया कि कि कार्यक्रम की रूपरेखा के अनुसार जनपद में कार्यक्रम कराते हुए इसकी सूचना संस्कृति विभाग के लिंक https://culturalevent.in/merimatimeradesh / पर अपलोड किए जाने के निर्देश दिए। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी जुनैद अहमद, मुख्य विकास अधिकारी डॉक्टर सुधाकर पांडेय सहित समस्त उप जिलाधिकारी, तहसीलदार, विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।

रिपोर्ट – मुकेश वर्मा/राहुल कोष्टा

error: Content is protected !!