May 24, 2024

लम्बित वादों में प्रभावी पैरवी कर अधिक से अधिक अभियुक्तों को सजा दिलायी जाय : जिलाधिकारी

झांसी। विकास भवन सभागार में जिलाधिकारी श्री रविंद्र कुमार ने एडीएम प्रशासन श्री ए.के. सिंह, एसपी सिटी श्री विवेक त्रिपाठी के साथ अभियोजन कार्यों की मासिक समीक्षा बैठक की, संबंधित को जरूरी निर्देश दिए। अभियोजन कार्याे की समीक्षा हेतु विकास भवन सभागार में आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए जिलाधिकारी श्री रविंद्र कुमार ने निर्देश दिया कि गम्भीर प्राकृति के वादों में प्रभावी पैरवी कर अधिक से अधिक दोषियों को सजा दिलायी जाय। जिससे अपराधी किस्म के लोगों को यह मैसेज जाये कि छोटा से छोटा अपराध करने पर भी वे सज़ा से बच नहीं सकते हैं। जिलाधिकारी ने यह भी निर्देश दिया कि न्यायालय में साक्ष्य के लिए आने वाले गवाहों से शत प्रतिशत परिक्षित कराया जाय तथा दोषमुक्त मामलों में नियमानुसार अपील की कार्यवाही भी सुनिश्चित की जाय। समीक्षा बैठक के दौरान में ई-प्रासी क्यूशन डाटा फिडिंग, सम्मन तामिला इत्यादि कार्यों की भी समीक्षा कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिये गए। जिलाधिकारी श्री रविंद्र कुमार ने मौजूद शासकीय अधिवक्ताओं एवं अभियोजन के अधिकारियों से न्यायालयों में साक्षियों की उपस्थिति और उनके पक्षद्रोही होने के कारणों की समीक्षा की। डीएम ने पुलिस विभाग व अभियोजन विभाग से कहा कि समन तामीली समयबद्ध होनी चाहिए। अधिकतम साक्षियों को न्यायालयों के समक्ष परीक्षित कराया जाय। अकारण साक्षियों की वापसी ना होने पाए, यह प्रत्येक दशा में सुनिश्चित किया जाए। न्यायालयों में विचाराधीन मामलों में सफल अभियोजन पैरवी कर सजा का प्रतिशत बढ़ाया जाना चाहिए। ताकि न्यायालयों में लंबित पुराने मामलों का निस्तारण शीघ्र हो सके। बैठक में श्री जोगेंद्र सिंह संयुक्त निदेशक अभियोजन, श्री एमपी सिंह वरिष्ठ अभियोजन अधिकारी, श्री मृदुल कांत श्रीवास्तव जिला शासकीय अधिवक्ता, श्री प्रदीप कुमार जिला शासकीय अधिवक्ता, राजस्व श्री सूर्य प्रकाश पाठक विशेष अधिवक्ता, श्री रवि प्रकाश गोस्वामी सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता, श्री अतुल सक्सेना सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता सहित अन्य विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

रिपोर्ट – मुकेश वर्मा/राहुल कोष्टा

error: Content is protected !!