May 19, 2024

सरकार की जमीन पर अवैध बिल्डिंग में कैसे लगा बिजली मीटर, एसडीओ ने कहा जांच होगी

झांसी। एक तरफ यूपी सरकार पूरे प्रदेश में भ्रष्टाचार को समाप्त करने ओर माफियाओं अपराधियों के खात्मे तथा अपराध को जड़ से समाप्त करने के लिए लगातार प्रयासरत है। वही निचले स्तर पर सरकारी जमीनों पर अवैध बिल्डिंग निर्माण करने वाले भू माफियाओं को सरकार के विभाग के ही नुमाइंदे भ्रष्टाचार में लिप्त होकर उन्हे पूरी सुविधाएं सारे नियम कानून ताक पर रख कर उपलब्ध करा देते है। ऐसा ही मामला प्रकाश में आया। जहां थाना सीपरी बाजार स्थित लहर गिर्द में जिला प्रशासन की टीम नगर निगम की टीम ने सरकार की करोड़ो की जमीन पर अवैध रूप से कब्जा किए गुलशन यादव के निर्माण कार्य को प्रशासन की टीम ने ध्वस्त करते हुए जमीन मुक्त कराई। लेकिन सबसे ज्यादा गौर करने वाली यह है की जिस सरकारी जमीन पर बनी अवैध बिल्डिंग को तोड़कर कब्जा मुक्त कराया उस पर विद्युत विभाग का बिजली मीटर लगा हुआ था। यह सबसे बड़ी चर्चाओं का विषय बना हुआ है की एक आम व्यक्ति को खुद के मकान में विद्युत कनेक्शन लेने के लिए विभाग में फिरकनी की तरह नाचना पड़ता है तब भी उसे कोई गारंटी नहीं की विद्युत कनेक्शन मिलेगा या नहीं। यह सबसे बड़ा सवाल बना हुआं है की सरकारी जमीन पर अवैध बिल्डिंग बनाए भू माफिया विद्युत कनेक्शन कैसे मिला यह भी उस समय मालूम हुआ जब ध्वस्ती करण की कार्यवाही के समय विद्युत कर्मियों से बिल्डिंग पर लगा विद्युत मीटर निकलवाया। वहां खड़े विद्युत विभाग के अफसरों ने यह जानने का प्रयास नही किया की आखिर इस सरकारी जमीन पर बनी अवैध बिल्डिंग में वैध विद्युत मीटर कैसे लगा। सूत्र बताते है विद्युत विभाग के कुछ भ्रष्ट अफसरों की मिली भगत से फर्जी कूट रचित दस्तावेज तैयार कर विद्युत मीटर लगाया गया था। वही इस संबंध में सीपरी बाजार खालसा फीडर के एसडीओ से वार्ता की गई तो उन्होंने बताया की कोई प्रावधान नहीं की किसी को सरकारी जमीन पर प्राइवेट विद्युत कनेक्शन दिया जाए। गुलशन यादव की अवैध बिल्डिंग में विद्युत मीटर किस नियम से लगा इसकी जांच कराई जाएगी साक्ष्य मिलने के बाद दोषियों पर कार्यवाही की जाएगी।

रिपोर्ट – मुकेश वर्मा/राहुल कोष्टा

error: Content is protected !!