March 4, 2024

स्मार्ट फोन व टैबलेट वितरण में धीमी प्रगति वाले जनपदों के प्रति नाराजगी, एक सप्ताह में शत-प्रतिशत स्मार्ट फोन व टैबलेट वितरण कराने के निर्देश

झांसी। प्रदेश के मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र ने कहा कि जनसमस्याओं का शीघ्र एवं प्रभावी निस्तारण शासन की सर्वोच्च प्राथमिकता है। ऐसे में तहसील, ब्लाक व थाना दिवस में वरिष्ठ अधिकारी अपनी सहभागिता सुनिश्चित कराते हुये प्राप्त होने वाले आवेदन पत्रों का निस्तारण गुणवत्तापरक ढंग से कराया जाना सुनिश्चित करें। मुख्य सचिव शासन के प्राथमिकता के कार्यक्रमों की समीक्षा कर वीडियो कॉन्फ्रेन्सिंग के माध्यम से समस्त मण्डलायुक्तों एवं जिलाधिकारियों सहित अन्य अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दे रहे थे। मुख्य सचिव ने स्मार्ट फोन व टैबलेट वितरण में धीमी प्रगति वाले जनपदों के प्रति नाराजगी व्यक्त करते हुये उन्होंने अधिकारियों को अगले एक सप्ताह में शत-प्रतिशत स्मार्ट फोन व टैबलेट वितरण सुनिश्चित कराने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि गेहूं की कटान चल रही है। अतः अभियान चलाकर गौ-आश्रय स्थलों के लिये भूसे का भण्डारण अभी से कर लिया जाये। इस कार्य में ग्राम प्रधान का भी सहयोग लिया जा सकता है। मुख्य सचिव ने कहा कि भीषण गर्मी के जनता की समस्या को देखते हुए हमें बिजली संकट पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है। सभी जनपदों में रोस्टर के अनुसार विद्युत आपूर्ति की व्यवस्था सुनिश्चित हो। स्थानीय स्तर पर बिजली विभाग के सभी अधिकारियों के साथ बैठक कर अनावश्यक बिजली की कटौती न होने पाए ऐसे प्रयास सुनिश्चित करें। मुख्य सचिव ने कहा कि कार्यालय की साफ-सफाई पर विशेष ध्यान दिया जाये। निष्प्रयोज्य सामग्री को ई-ऑक्शन के माध्यम से नीलाम किया जाये। सभी दफ्तरों में अनुशासन का पालन करते हुए समयबद्ध तरीके से फाइलें निपटाई जाए। उन्होंने कहा कि किसान सम्मान निधि, मत्स्य पालन, पशुपालन से जुड़े सभी जरूरतमन्द किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड अभियान चलाकर उपलब्ध कराएँ। मुख्य सचिव ने कहा कि सभी आकांक्षात्मक जनपद विकास की गति को तेज कर अपने प्रदर्शन में सुधार में लायें। पी0एम0 स्वनिधि योजना के अन्तर्गत बैंकर्स के क्वार्डिनेट कर वेण्डर्स को क्यूआर कोड दिलाया जाये तथा वेण्डर्स को क्यूआर कोड के उपयोग के लिये प्रशिक्षित व प्रेरित किया जाये। संचारी रोगों के बारे में चलाये जा रखे विशेष अभियानों की लगातार समीक्षा करते रहें के भी निर्देश वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान दिए। उन्होंने कहा कि जल की एक एक बूंद बचाना हम सबकी जिम्मेदारी है। इसके लिए हमें आजादी के अमृत महोत्सव के उपलक्ष्य में जल संरक्षण की महत्ता को समझते हुए कहा कि हर जिले में 75 अमृत सरोवरों को विकसित करने के काम को तेजी से आगे बढ़ाया जाये। बैठक में रोजगार सृजन के सम्बन्ध में नगर आयुक्त झांसी अवनीश कुमार राय द्वारा प्रस्तुतिकरण दिया गया। उन्होंने बताया कि किस प्रकार झांसी नगर के केन्द्र में स्थिति ऐतिहासिक तालाब ‘पानी वाली धर्मशाला’ का जीर्णोद्धार व सौंदर्यीकरण कार्य कराया गया है। इसी प्रकार वीडियोकांफ्रेंसिंग में जिलाधिकारी फिरोजाबाद ने सुहाग नगरी महिला प्रेरणा उत्पादन कंपनी लि0 द्वारा स्वयं सहायता समूह के माध्यम से चिप्स प्रोडक्शन यूनिट लगाकर 650 महिलाओं को रोजगार उपलब्ध कराया जा रहा है। इसी तरह जिलाधिकारी मुजफ्फरनगर ने बताया कि हैदरपुर वेटलैण्ड टूरिज्म प्रोजेक्ट के अन्तर्गत सौन्दर्यीकरण कार्य कराया गया है, जिससे काफी मात्रा में पर्यटकों का आवागमन हो रहा है और लोगों को प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार मिल रहा है। इसी क्रम में जिलाधिकारी भदोही ने बताया कि मोरवा नदी का जीर्णोद्धार कार्य कराया जा रहा है। इससे मनरेगा के अन्तर्गत 01 लाख मानव दिवस सृजित होंगे और 2500 परिवारों को रोजगार मिलेगा। साथ ही राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के अन्तर्गत बायो फ्लॉक विधि से मछली पालन कराया जा रहा है। इस विधि से कम क्षेत्र में मछली पालन किया जाता है। इसी प्रकार मुख्य विकास अधिकारी कुशीनगर ने बताया कि जनपद कुशीनगर में कुशीनारा ब्राण्ड को प्रमोट किया जा रहा है। इस ब्राण्ड के अन्तर्गत समूह द्वारा तैयार उत्पादों को बिक्री हेतु बाजार एवं ग्राहक उपलब्ध कराना है। इसके साथ ही स्वयं सहायता समूहों को नई तकनीक एवं संभावनाओं से परिचित कराया जाता है। इसमें 75 स्वयं सहायता समूहों को जोड़ा गया है, जिसकी प्रतिमाह औसत आय 35 लाख रुपये है। मुख्य सचिव ने प्रस्तुतिकरण के उपरान्त रोजगार सृजन के सम्बन्ध में जनपदों में किये गये कार्यों की प्रशंसा करते हुये कहा कि सभी अधिकारी अन्य जनपदों के बेहतर कार्यों से प्रेरणा लेकर अपने जनपद में क्या नया सृजनात्मक कार्य कर सकते हैं, इस ओर ध्यान दें। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग द्वारा आयोजित बैठक में हंसी एनआईसी कक्ष में नगर आयुक्त अवनीश कुमार राय, मुख्य विकास अधिकारी शैलेष कुमार, जेडीसी श्रीमती मिथलेश सचान, एडीएम नमामि गंगे संजय कुमार पांडेय सहित अन्य विभागों के वरिष्ठ अधिकारीगण आदि उपस्थित रहे।

रिपोर्ट – मुकेश वर्मा/राहुल कोष्टा

ये भी देखें

error: Content is protected !!