March 4, 2024

ललितपुर में थाने में नाबालिग से सामूहिक दुष्कर्म के फरार आरोपी एसओ तिलकधारी सरोज अरेस्ट

झांसी। यूपी के ललितपुर जिले के पाली में थाने के अंदर ही नाबालिग से रेप की सनसनीखेज वारदात के मामले में आरोपी एसएचओ तिलकधारी सरोज को प्रयागराज से गिरफ्तार कर लिया गया है। इससे पूर्व ललितपुर के पाली में थाने के अंदर ही बलात्कार पीडि़ता एक नाबालिग से थाने के अंदर ही रेप के सनसनीखेज मामले में एसओ सहित पूरे थाने को निलंबित कर दिया गया है। अब तक दो की गिरफ्तारी हुई है, जिन्हें न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है। वहीं इस मामले ने राजनीतिक रंग ले लिया है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने योगी सरकार की कड़ी आलोचना करते हुए कानून व्यवस्था के मामले में सरकार को कटघरे में खड़ा किया है। स्थानीय जनता के आक्रोश से निपटने के लिए थाने की सुरक्षा के लिए अन्य थानों की पुलिस भेजी गयी है।एडीजी कानपुर जोन भानु भास्कर ने इस घटना में पाली थाने के कोतवाल समेत सभी पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया है। मामले की जांच डीआईजी झांसी रेंज जोगेंद्र कुमार को सौंपी गयी है। इंस्पेक्टर और नाबालिग की मौसी समेत छह लोगों पर मुकदमा दर्ज हुआ है। मुख्य आरोपी इंस्पेक्टर फरार है। दो आरोपी गिरफ्तार है।वही नाबालिग के साथ हुए बलात्कार मामले की रिपोर्ट लिखाने लड़की को लेकर उसकी मौसी थाने गयी थी। आरोप है कि इंस्पेक्टर ने फरियाद सुनने के लिए थाना परिसर स्थित आवास में बुलाया और रेप किया। बाद में इसकी शिकायत एसपी निखिल पाठक से की गयी। तब इंस्पेक्टर और मौसी समेत छह लोगों पर मुकदमा दर्ज हुआ। लड़की को चार लोग 22 अप्रैल को बहला फुसलाकर भोपाल ले गए थे। वहां उसके साथ दुराचार हुआ था। इस मामले में रिपोर्ट लिखाने उसकी मौसी आयी थी।मामले में  चन्दन, राजभान, हरिशंकर, महेन्द्र चौरसिया, प्रभारी निरीक्षक पाली तिलकधारी सरोज व मौसी गुलाबबाई के खिलाफ अपहरण, गैगरेप, साजिश आदि की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है।

रिपोर्ट – मुकेश वर्मा/राहुल कोष्टा

ये भी देखें

error: Content is protected !!