June 22, 2024

समाज, देश, संस्था एवं उद्योग में मज़दूरों, कामगारों भूमिका अहम : सविता पचौरी

झाँसी। मजदूर दिवस मनाने के पीछे का कारण यह है कि पूरी दुनिया में मजदूरों के संघर्षो और उनके योगदान को याद किया जा सके. वर्ष 1886 में अमेरिका में मजदूरों का आंदोलन शुरू हुआ जिसके बाद यह तय किया गया कि हर मजदूर से प्रतिदिन केवल 8 घंटे ही काम लिया जा सकेगा. इस मजदूर दिवस के उपलक्ष्य में अक्षय जन सेवा समिति के द्वारा बालाजी रोड स्थित पचौरी बोरबेल में कार्यरत सभी मजदूरों को तौलिया उड़ाकर सम्मानित किया गया. इस अवसर पर समिति कि अध्यक्ष सविता पचौरी ने कहा कि किसी भी समाज, देश, संस्था एवं उद्योग में मज़दूरों, कामगारों और मेहनतकशों की अहम भूमिका होती है। उनकी बड़ी संख्या इस कामयाबी के लिए हाथों और तनदेही के साथ जुटी होती है। किसी भी उद्योग में कामयाबी के लिए मालिक,कामगार और सरकार अहम धड़े होते हैं। कामगारों के बिना कोई भी औद्योगिक ढांचा खड़ा नहीं रह सकता, आज समाज के प्रत्येक व्यक्ति को किसान कामगार एवं मजदूरों का सम्मान एवं आदर के साथ साथ उनके हकों के लिए आगे आना होगा, मजदूरों को सम्मान देने से उनका मान सम्मान बढ़ जाता है और आज मजदूर दिवस है इसलिए हम सभी ने मिलकर मजदूरों को सम्मानित किया है. इस अवसर पर मनोज पाठक, संजीव शर्मा, अबधेश जैन, नीलू कोशल, डंगोर मोहन सिंह, इजी.मयंक श्रीवास्तव,ज्योति अग्रवाल ,रानी अनिल कुमार विश्कर्मा, योगेश तिवारी, पूनम अवस्थी, अनीता सुरेन्द्र बसेड़िया , आशा यादव, सीमा शर्मा, सीमा बृजेश शर्मा सत्येंद्र मिश्रा आदि लोग उपस्थित रहे। संचालन ज्योति अग्रवाल व आभार विवेक गोस्वामी ने व्यक्त किया।

रिपोर्ट – मुकेश वर्मा/राहुल कोष्टा

error: Content is protected !!