May 20, 2024

गौशालाओं को भूसा के लिए आत्मनिर्भर बनाने के लिए खाली खाली पड़ी गोचर भूमि पर नेपियर घास लगाना सुनिश्चित किया जाए क्षेत्र भ्रमण के दौरान अधिकारी मनरेगा के कार्यों का भी सत्यापन करना सुनिश्चित करें

झांसी। आज जिलाधिकारी श्री रविंद्र कुमार द्वारा ग्राम चिरगांव देहात, विकास खण्ड चिरगांव में निर्मित गौशाला, राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारण्टी योजनान्तर्गत ग्राम पंचायत गुलारा में हो रहे नाला खुदाई एवं जंगल सफाई कार्य(हाईवे से चन्द्रशेखर राजपूत के खेत तक) एवं ग्राम पहाड़ी बुर्जुग में हो रहे मिट्टी भराव कार्य(वीरेन्द्र के खेत से महाराम के खेत तक) का कार्य का औचक निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि ग्राम में मनरेगा के होने वाले कार्यों की जानकारी ग्रामीण जनों को मुनादी के माध्यम से या ग्राम सभा की खुली बैठक के दौरान देना सुनिश्चित किया जाए ताकि अधिक से अधिक इच्छुक व्यक्ति को रोजगार प्राप्त हो सके उन्होंने यह भी कहा कि जो भी इच्छुक व्यक्ति मनरेगा में कार्य करना चाहते हैं उनका जॉब कार्ड बनाते हुए श्रम विभाग में उन्हें पंजीकृत किया जाए ताकि अधिक से अधिक लोगों को श्रम विभाग की योजनाओं का लाभ प्राप्त हो सके।

उन्होंने गौशाला का भ्रमण करते हुए कहा कि जनपद की समस्त गौशालाओं को भूसा एवं हरे चारे के लिए आत्मनिर्भर बनाने हेतु गौशाला की खाली पड़ी भूमि अथवा गोचर की भूमि पर नेपियर घास लगाए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने गौशाला में वर्मी कंपोस्ट भी बनाए जाने का सुझाव दिया। जिलाधिकारी ने ग्राम चिरगांव देहात, विकासखण्ड चिरगांव में स्थित गौशाला का निरीक्षण किया, मौके पर गौशाला में टीन शेड एवं भूसे की व्यवस्था पाती । उन्होंने गायों को भूसा खाने हेतु बने हौदे में भरे भूसे का निरीक्षण किया, मटर एवं गेंहू का भूसा गायों को खिलाया जा रहा है। उन्होंने खण्ड विकास अधिकारी, चिरगांव से आगामी 06 माह के लिये भूसा के संग्रहण किये जाने के स्थिति की जानकारी ली, मौके पर उन्हें बताया गया कि आगामी 06 माह के लिये भूसा का संग्रहण कर लिया गया है। उन्होंने उपस्थित क्षेत्रीय लेखपाल से उपलब्ध सरकारी/गौचर की भूमि के संबंध में जानकारी ली। लेखपाल द्वारा अवगत कराया गया कि ग्राम में सरकारी/गौचर की भूमि उपलब्ध है। उन्होंने ग्राम सचिव को निर्देश दिये कि उपरोक्त सरकारी भूमि में मनरेगा के अन्तर्गत सुरक्षा खाई खोद कर एवं बाउण्ड्री पर पौधे लगाकर भूमि पर कांटारहित नागफनी, नेपियर घास एवं फॉडर सुगर केन लगाई जाये। जिससे लंबे समय तक गायों के लिये हरा चारा प्राप्त किया जा सकता है। उन्होंने पेयजल की व्यवस्था के संबंध में खण्ड विकास अधिकारी से जानकारी ली। खण्ड विकास अधिकारी ने बताया गया कि पेयजल हेतु सबमर्सिबल लगा हुआ है। गायों के लिये पेयजल की कोई समस्या नहीं है। विगत वर्ष में माह मई-जून में भी उक्त सबमर्सिबल से पेयजल प्राप्त होता रहा है। इसके उपरान्त उन्होंने गौशाला में उपलब्ध गोबर के संबंध में निर्देश दिये कि गोबर से वर्मी कम्पोस्ट का उत्पादन किया जाये तथा कम्पोस्ट को किसानों को देकर उनसे भूसा/चारा प्राप्त किया जाये। भ्रमण के दौरान जिलाधिकारी ने राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारण्टी योजनान्तर्गत विकासखण्ड चिरगांव के ग्राम गुलारा में हो रहे नाला खुदाई एवं जंगल सफाई कार्य(हाईवे से चन्द्रशेखर राजपूत के खेत तक) का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने निर्माणधीन कार्य की स्थिति का स्वयं अवलोकन किया। मौके पर खण्ड विकास अधिकारी द्वारा बताया गया कि प्रत्येक बर्कर की प्रतिदिन उपस्थिति ली जाती है। एम.एम.एस. एप में तकनीकि खराबी आने के कारण मैनुअल उपस्थिति ली जा रही है। जिलाधिकारी ने मौके पर मस्टर रोल को देखा तथा वर्कर की उपस्थिति की क्रॉस चेकिंग की। इसके उपरान्त जिलाधिकारी ने वर्कर्स से संवाद किया एवं उनके पास जॉब कार्ड एवं कार्य की मांग करने पर रोजगार मिलने के संबंध में जानकारी ली। वर्कर्स द्वारा बताया गया कि कार्य की मांग करने पर एवं कार्य उपलब्ध होने पर रोजगार मिल जाता है। खण्ड विकास अधिकारी ने बताया गया कि उपरोक्त नाला हाइवे से बेतवा नदी तक खोदा जा रहा है एवं बेतवा नदी से जुड़ने पर कृषकों को सिंचाई हेतु पानी प्राप्त होगा। कार्य का निरीक्षण करते हुए जिलाधिकारी ने मौके पर निर्देश दिये कि उपरोक्त कार्य को बीच में अधूरा न छोड़ा जाये, यह अवश्य सुनिश्चित किया जाए। जिलाधिकारी ने राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारण्टी योजनान्तर्गत विकासखण्ड चिरगावं के ग्राम पहाड़ी बुर्जुग में हो रहे मिट्टी भराव कार्य (वीरेन्द्र के खेत से महाराम के खेत तक) का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान खंड विकास अधिकारी द्वारा बताया गया कि कुछ वर्कर आज काम पर नहीं आये हैं, जिनकी अनुपस्थिति दर्ज कर दी गई है। इसके अतिरिक्त आज कुछ वर्कर की संख्या को बढाया भी गया है। इस प्रकार वर्तमान में कुल 19 वर्कर हो कार्य कर रहे हैं। उन्होंने निर्माणधीन कार्य की स्थिति एवं मस्टर रोल को सत्यापन तथा वर्कर की उपस्थिति चैक की। उन्होंने वर्कर से संवाद किया। वर्कर द्वारा बताया कराया गया कि सभी का जॉब कार्ड बना हुआ है एवं काम की मांग करने पर काम मिलता है। वर्कर द्वारा बताया गया कि स्थल पर उनके पीने के लिये पानी हेतु मटका रखा हुआ है। यह भी बताया कि उन्हें अपनी दैनिक मजदूरी समय पर प्राप्त हो जाती है। जिलाधिकारी को निरीक्षण के दौरान मौके पर कार्य के संबंध में बोर्ड भी लगा पाया गया। भ्रमण के दौरान मुख्य विकास अधिकारी श्री शैलेष कुमार, खंड विकास अधिकारी श्री नरेंद्र कुमार सहित ग्राम प्रधान सचिव सहित अन्य ग्रामीण जन उपस्थित रहे।

रिपोर्ट – मुकेश वर्मा/राहुल कोष्टा

ये भी देखें

error: Content is protected !!