July 17, 2024

किसान भागीदारी प्राथमिकता हमारी अभियान” में किसानों की आय को बढ़ाने,नई तकनीकी से पैदावार को बढ़ाने पर होगी विस्तृत चर्चा विशेष अभियान के द्वारा “हमारा किसान हमारा अभिमान” एवं “हर किसान देश की शान” के नारे को सार्थक किया जाएगा

झांसी। कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार एवं जिला अधिकारी रविंद्र कुमार ने समस्त किसानों का आह्वान करते हुए जानकारी दी है कि ”किसान भागीदारी प्राथमिकता हमारी अभियान” नाम से 25 अप्रैल से 01 मई 2022 तक एक सप्ताह का विशेष अभियान जनपद में चलाया जाएगा, जिसके अन्तर्गत प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की फसल बीमा पाठशाला का आयोजन किया जायेगा। पाठशाला के आयोजन में उद्यान, पशुपालन, मत्स्य, सहकारिता विभाग के ग्राम पंचायत स्तरीय कर्मचारियों द्वारा प्रतिभाग किया जाएगा। उन्होंने बताया कि पाठशाला में किसानों को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के बारे में जानकारी दी जायेगी साथ ही साथ योजना के महत्व एवं उद्देश्यों से अवगत कराया जायेगा तथा किस प्रकार ऋणी एवं गैर-ऋणी कृषक प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ खरीफ 2022 सीजन में प्राप्त कर सकते हैं इससे भी अवगत कराया जायेगा। ऋणी किसान वह किसान कहलाते हैं जो किसान क्रेडिट कार्ड के रूप में फसल पर बैंक ऋण लेते हैं व गैर ऋणी किसान वह सभी किसान कहलाते हैं जो किसी भी प्रकार का बैंक से फसल ऋण नहीं लेते हैं। उन्होंने यह भी बताया कि भारत सरकार द्वारा प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना को सरल बनाने के लिए किसानों से खरीफ में 2 प्रतिशत एवं रबी में 1.5 प्रतिशत की दर से बीमित राशि पर प्रीमियम की धनराशि देकर किसान अपनी फसल का बीमा करा सकते हैं। भारत सरकार के द्वारा जन सुविधा केन्द्र के माध्यम से गैर-ऋणी कृषक फसल बीमा का लाभ कैसे उठायें इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए एक विशेष अभियान जनपद के सभी ग्राम पंचायतों में एक सप्ताह तक चलाया जायेगा। जनपद के जन सुविधा केन्द्र प्रबन्धक एवं बीमा कम्पनी के प्रबन्धक उक्त अभियान के सफल आयोजन के लिए अपने निर्देशन में कार्यक्रम को सफल बनाएंगे। जिससे इस विशेष अभियान के द्वारा हमारा किसान हमारा अभिमान एवं हर किसान देश की शान नारे को सार्थक किया जा सके। जिलाधिकारी ने वर्चुअली बैठक में समस्त अधिकारियों से अपेक्षा करते हुए कहा कि ससमय सभी तैयारियों को पूर्ण कर लें ताकि जनपद के किसानों को अभियान के अंतर्गत लाभान्वित किया जा सके।

रिपोर्ट – मुकेश वर्मा/राहुल कोष्टा