July 12, 2024

जिलाधिकारी एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक द्वारा विभिन्न धर्म/संप्रदाय के धर्मगुरुओं के साथ पीस कमेटी की बैठक की गई जुलूस एवं अन्य कार्यक्रमों के आयोजन के लिए पूर्व में स्वीकृति अवश्य प्राप्त कर लें

झांसी। कलेक्ट्रेट स्थित चैंबर में पीस कमेटी की बैठक में जिलाधिकारी श्री रविंद्र कुमार द्वारा बताया गया कि परंपरागत धार्मिक कार्यक्रमों का ही आयोजन किया जाए। परंपरा से हटकर कोई नया धार्मिक कार्यक्रम न किया जाए। इसके अतिरिक्त धार्मिक कार्यों हेतु जो लाउडस्पीकर लगे हुए हैं, उनके अलावा कोई नया लाउडस्पीकर न लगाया जाए। उन्होंने कहा कि पूर्व से लगा हुआ लाउडस्पीकर यदि खराब हो जाता है, तो उसे ठीक कराया जा सकता है।

उन्होंने कहा कि किसी स्थल/मंदिर/मस्जिद आदि स्थानों पर किसी धर्म/संप्रदाय के व्यक्तियों द्वारा परंपरागत धार्मिक कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा हो, तो दूसरे धर्म/संप्रदाय के व्यक्तियों द्वारा उस स्थान अथवा उसके आस पास ऐसा कोई ऐसा कार्य न किया जाए, जिससे आयोजन में व्यवधान उत्पन्न हो। उन्होंने धर्मगुरुओं से कहा कि वे अपने अपने संप्रदाय के लोगों को बताए कि वे किसी भी व्यक्ति के बहकावे में न आए एवं शांति बनाए रखें। यदि किसी घर में अधिक संख्या में लोग बाहर से आए, तो इसकी सूचना तत्काल पुलिस/प्रशासन को दी जाए। उन्होंने कहा कि यदि किसी स्थान पर पानी एवं साफ सफाई से संबंधित समस्या हो, तो उसे बताए। समस्या के संबंध में तत्काल कार्यवाही की जायेगी। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्री शिवहरी मीणा द्वारा बताया गया कि किसी भी प्रकार के आयोजन से पूर्व प्रशासन से अनुमति अवश्य प्राप्त की जाए, ताकि आयोजन के संबंध में पुलिस एवं प्रशासन को जानकारी रहे। उन्होंने कहा कि किसी भी गैर परंपरागत धार्मिक आयोजन की अनुमति प्रदान नहीं की जायेगी। उन्होंने धर्मगुरुओं को बताते हुए कहा कि यदि उन्हें कोई अवांछनीय तथ्य संज्ञान में आए, तो वे सर्वप्रथम पुलिस को इसकी सूचना दें। पुलिस द्वारा कार्यवाही की जायेगी। स्वयं कोई कार्यवाही न करें। जनपद में त्यौहारों पर शांति व्यवस्था एवं सौहार्दपूर्ण वातावरण बनाए रखने के लिए जिलाधिकारी एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक द्वारा धर्मगुरुओं से अपील की गई।

रिपोर्ट – मुकेश वर्मा/राहुल कोष्टा