March 5, 2024

झांसी सहित बुंदेलखंड के अन्य जिलों की घरौनी वितरण में महत्वपूर्ण भूमिका, समय से पूर्ण करें घरौनी वितरण का कार्य जनपद में 654 ग्रामों में 1,42,520 घरौनियों का वितरण, अवशेष गांव में जल्द होगी घरौंनी तैयार : डीएम

झांसी। आज मुकुल सिंघल अध्यक्ष राजस्व परिषद ने वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से नवीनतम ड्रोन प्रोद्यौगिकी के उपयोग से ग्रामीण आबादी वाले क्षेत्रों का सर्वेक्षण एवं अभिलेखीकरण के कार्य की समीक्षा करते हुये कहा कि स्वामित्व योजना भारत/प्रदेश सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकताओं में शामिल है, अतः किये जाने वाला कार्य समय से संवेदनशील होकर किया जाये ताकि कार्य त्रुटिरहित हो और समय से पूर्ण किये जा सके, किए गए कार्य की डाटा एंट्री पोर्टल पर अवश्य सुनिश्चित की जाए ताकि जिले में हो रहे कार्य को देखा जा सके। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से अध्यक्ष राजस्व परिषद मुकुल सिंघल ने प्रदेश के 14 जनपदों के जिलाधिकारी व अन्य अधिकारियों से संबाद स्थापित करते हुए कहा कि दिनांक 24 अप्रैल 2022 को माननीय प्रधानमंत्री जी द्वारा शत प्रतिशत घरौनी का वितरण किया जाना है। उन्होंने समस्त जिलाधिकारियों को निर्देश दिए कि घरौनी वितरण का कार्य प्रत्येक दशा में 15 अप्रैल 2022 तक पूर्ण किया जाना सुनिश्चित कर लिया जाए, उन्होंने उन जिलों के जिलाधिकारीयों से बात की जहां प्रगति कम है। अध्यक्ष राजस्व परिषद ने कहा कि कुछ जिलों में पड़ताल की गति धीमी हो रही है जहां मैप मिल गए हैं वहां पड़ताल जल्द करायें।

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से उन्होंने जिलाधिकारियों से बात करते हुए कहा कि जब सभी कार्य पूर्ण कर लिए गए हैं तो जल्द प्रकाशन कराते हुए ग्राम पंचायत की बैठक में पढ़ना सुनिश्चित कर लिया जाए ताकि उक्त घरौनियों का वितरण जल्द सुनिश्चित किया जा सके। उन्होंने कहा कि घरौनी वितरण कार्यक्रम में झांसी सहित बुंदेलखंड के समस्त जिलों की महती भूमिका है। अतः बुंदेलखंड के समस्त जिले अपने अधिसूचित गांवों में शत-प्रतिशत घरौनी वितरण की तैयारी कर लें। उन्होने वीसी के माध्यम से बताया कि स्वामित्व योजना की पीएमओ के माध्यम से लगातार माॅनीटरिंग की जा रही है, अतः ऐसे जिले जहां घरौनी वितरण लंबित है, वहां समय सारणी बनाते हुए घरौनी वितरण कार्यक्रम सुनिश्चित करें, उन्होंने कहा कि प्रदेश में ऐसे जनपद जहां प्रगति कम है वहां तेजी लाते हुए 15 अप्रैल तक समस्त कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि समय से कार्य पूर्ण करने पर संबंधित जिलाधिकारियों को विशेष प्रशस्ति पत्र दिया जाएगा। अध्यक्ष राजस्व परिषद मुकुल सिंघल ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जल शक्ति अभियान की समीक्षा करते हुए निर्देश दिए कि जनपद में समस्त तालाबों की सूची राजस्व परिषद पोर्टल पर अपलोड की जानी है, सूची के साथ ही फोटोग्राफ और चौहद्दी को भी फीड किया जाना है। इसे समय से और सावधानीपूर्वक फीड किया जाए। इस कार्य की माननीय उच्च न्यायालय द्वारा लगातार मॉनिटरिंग की जा रही है। वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से जिलाधिकारी रविंद्र कुमार ने जनपद में स्वामित्व योजना के अन्तर्गत किये गये कार्यो की जानकारी देते हुये बताया कि जनपद में अब तक 654 ग्रामों में 1,42,520 घरौनियों का वितरण किया जा चुका है। जिलाधिकारी ने अवशेष कार्य की जानकारी देते हुए अवगत कराया कि जनपद के 23 ग्रामों के मानचित्र सर्वे ऑफ इंडिया लखनऊ से प्राप्त नहीं हुए हैं जिससे इन ग्रामों की घरौंनी का प्रकाशन का कार्य अवरुद्ध है,उन्होंने बताया 23 गांव में घरौंनियों के प्रकाशन हेतु सर्वे ऑफ इंडिया लखनऊ स्तर पर आ रही परेशानियां/ कठिनाइयों के निस्तारण हेतु जनपद से डिप्टी कलेक्टर को भेजा जा रहा है, परेशानियों का निस्तारण होते ही घरौंनियों का प्रकाशन करा लिया जाएगा। वीडियो कांफ्रेंसिंग द्वारा आयोजित स्वामित्व योजना की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने बताया कि जनपद में समस्त तालाबों को चिन्हित करते हुए उनकी वास्तविक स्थिति के फोटोग्राफ और चौहद्दी राजस्व परिषद के पोर्टल पर फ़ीड कराया जा रहा है। इस मौके पर अपर जिलाधिकारी (प्रशासन) अरुण कुमार सिंह, उप जिलाधिकारी सदर क्षितिज द्विवेदी, एसीएम मृत्युंजय कुमार,उप जिलाधिकारी न्याय अबुल कलाम, राजस्व निरीक्षक धनेन्द्र तिवारी उपस्थित रहे।

रिपोर्ट – मुकेश वर्मा/राहुल कोष्टा

error: Content is protected !!