July 14, 2024

‘जनसंख्या नियंत्रण कानून की माँग को लेकर कलेक्ट्रेट पर धरना

झांसी। ब्रहस्पतिवार, 11 जुलाई 2024 को जनसंख्या समाधान फाउन्डेशन के कार्यकर्ताओं ने JSF जिलाध्या के नेतृत्व में जिला मुख्यालय पर धरना दिया तथा जनसंख्या विस्फोट एवंजनसांडियकीय असंतुलन जैसी भीषण समस्या से उत्पन्न हो रहे संभावित गृहयुद्ध के खतरे को रोकने के लिए जिलाधिकारी के माध्यम से प्रधानमंत्री, भारत सरकार के नाम ज्ञापन सौंपा।धरने में उपस्थित कार्यकर्ताओं ने बताया कि अंधाधुंध संतानोत्पत्ति करने की प्रवृत्ति पर ‘जनसंख्या नियंत्रण कानून” बनाकर अंकुश लगाने में एक-एक पल की देरी भारत और भारतीय संस्कृति के लिए पूर्व की भांति ही विघटनकारी साबित हो सकती है। एक वर्ग विशेष द्वारा रणनीति के तहत जानबूझकर बढ़ाई जा रही जनसंख्या और सनातन समाज की युवा पीढी में एक बच्चे तक सीमित रहने की बढ़ती प्रवृत्ति के कारण देश के अनेक भागों में 6 वर्ष से कम आयु वर्ग के बच्चों में जनसंख्या का संतुलन उस वर्ग विशेष के पक्ष में झुकता दिखने लगा है। भारत जनसंख्या में धार्मिक असंतुलन के कारण हुए विघटन के दश का प्रत्यक्ष मुक्तभोगी है, परन्तु पूर्व की सरकारों की विभाजन के तुरन्त बाद से जारी तुष्टिकरण की नीति के चलते अब फिर से वैसी ही परिस्थितियां निर्मित होती दिखाई दे रही हैं।कार्यकर्ताओं ने आगे बताया कि विभिन्न सामाजिक वर्गों के बीच जनसंख्या का अनुपात वर्तमान अनुपात के अनुसार बनाए रखने के उद्देश्य से ‘जनसंख्या नियंत्रण कानून बनाने की मांग को लेकर ‘जनसंख्या समाधान फाउन्डेशन द्वारा विगत लगभग 11 वर्षों से हजारों छोटी बड़ी सभाएं, धरना-प्रदर्शन, सांसद-संवाद कार्यक्रम, राष्ट्रपति सहित महत्त्वपूर्ण लोगों से भेंट आदि के रूप में राष्ट्रव्यापी अभियान चलाया जा रहा है। संगठन के जिलाध्यक्ष ने बताया कि “जनसंख्या नियंत्रण कानून बनाने हेतु समय रहते आवश्यक कदन ना उठाए जाने की स्थिति में निकट भविष्य में विधायक एवं सांसदों सहित महत्वपूर्ण जनप्रतिनिधियों के घेराव की योजना पर भी संगठन में विचार चल रहा है। जिला गुख्यालय पर आयोजित कार्यक्रम में गाँधी उधान में धरना दिया जिसमें अंकित गुप्ता ,कटेश पार्षद, जावाज भाई सचिंद्र गुप्ता , राहुल धानुक आसम चौदारी, . अजय वरार सीवी सिंह नीरज ओरछ, यश विश्नोई, आदि सहित बड़ी संख्या में धानुक, अजय तरार सो कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

रिपोर्ट – मुकेश वर्मा/राहुल कोष्टा