July 14, 2024

रंग, गुलाल, पिचकारी और मिठाइयां पाकर आदिवासी बच्चों के खिले चेहरे

झाँसी। संघर्ष महिला संगठन के तत्वाधान में संगठन की अध्यक्ष सपना संदीप सरावगी एवं समिति सदस्यों द्वारा डेली ग्राम स्थित सहारिया आदिवासी बस्ती में 100 से अधिक बच्चों को रंग, गुलाल, पिचकारी और मिठाइयां वितरित की गई। जिन्हें पाकर आदिवासी बच्चों के चेहरे खिल उठे एवं उनके माता-पिता ने संगठन की सदस्याओं को शुभकामनायें देकर आभार व्यक्त किया। संघर्ष महिला संगठन असहाय वर्ग के लिए त्योहारों पर उपहार वितरण का कार्यक्रम विगत काफी समय से आयोजित करता आ रहा है। संघर्ष महिला संगठन संघर्ष सेवा समिति का अनुसांगिक संगठन है जिसका विस्तार अब जनपद के साथ-साथ आसपास के क्षेत्रों में भी हो रहा है। संघर्ष सेवा समिति के संस्थापक डॉ० संदीप सरावगी सहरिया आदिवासी समिति के प्रबंधक भी हैं जिसके चलते समिति एवं अनुसांगिक संगठन आदिवासी समाज के लिए समय-समय पर कल्याणकारी कार्यक्रम आयोजित करते रहते हैं। होली के त्यौहार को देखते हुए संघर्ष महिला संगठन आदिवासी बस्ती में उपहार वितरित किये। इस अवसर पर संगठन की अध्यक्ष सपना सरावगी ने सभी को होली की अग्रिम शुभकामनाएं देते हुए कहा होली खुशियों का त्यौहार है जो हम सभी साथ में मिलकर मनाते हैं इस त्यौहार में सारे भेदभावों को दरकिनार कर एक दूसरे के साथ खुशियां मनाई जाती है। हमारे संगठन संघर्ष महिला संगठन का उद्देश्य है कि निम्न वर्ग के लोग भी त्यौहारों को आम लोगों की तरह खुशियों के साथ मना सकें। इसलिए आज हम डेली गांव में सहारिया बस्ती में एकत्रित हुए हैं जहां हमने बच्चों को उपहार वितरित किये हैं और आगे भी हम त्योहारों पर बस्ती में आकर एक दूसरे के साथ खुशियां बांटने का प्रयास करेंगे। इस अवसर पर संघर्ष महिला संगठन की वरिष्ठ उपाध्यक्ष सोनिया सिंह, उपाध्यक्ष रचना कुदरया, वरिष्ठ सचिव शैफाली अग्रवाल, सचिव सिमरत जिज्ञासी एवं सदस्य के रूप में प्रेरणा साहवानी, अर्जुनी अग्रवाल, अंजलि अग्रवाल और ज्योत्सना आदि उपस्थित रहे।

रिपोर्ट – मुकेश वर्मा/राहुल कोष्टा