July 14, 2024

जन्म मरण के बन्धन से मुक्त कराती है भागवत : वंदना उपाध्याय

झाँसी। श्रीगांधी मंच नगरा हाट का मैदान प्रेमनगर में नगरा महोत्सव में भागवत सत्संग मण्डल एवं गौ सेवा समिति के संयुक्त तत्वावधान मे आयोजित श्रीमद भागवत कथा ज्ञान यज्ञ के द्वितीय दिवस में समस्त भक्तों ने कथा श्रवण की। जिसमें सर्वप्रथम मुख्य अतिथि श्रीमती पूनम शर्मा धर्मपत्नी अनुराग शर्मा सांसद झाँसी-ललितपुर, विशिष्ट अतिथि आर.पी.निरंजन एम.एल.सी. प्रतिनिधि, मुख्य परीक्षित श्रीमती सरोज-रामआसरे गुप्ता एवं यजमान श्रीमती नीलम बृजेन्द्र श्रीवास्तव,श्रीमती सुषमा आर.पी.झा,श्रीमती शीला अग्निहोत्री ने मंगल कलश के साथ 4 वेद एवं 18 महापुराण सहित भागवत पूजन किया। उसके पश्चात मुख्य कथा व्यास राष्ट्रीय भागवताचार्य साध्वी वंदना उपाध्याय ने सती, ध्रुव चरित्र व कपिल मुनि अवतार के प्रसंगों का वर्णन किया। और कहा कि भागवत की कथा भक्ति ज्ञान वैराग्य की त्रिवेणी संगम है ,जो इसमें स्नान करता है ।वह जन्म मरण के बंधन से मुक्त हो जाता है। उन्होंने कहा कि श्रद्धा व विश्वास के साथ श्रीमद् भागवत कथा का श्रवण किया जाए तो मोक्ष की प्राप्ति संभव है। उन्होंने कहा कि राजा परीक्षित को गंगा नदी में मचान बनाकर श्रीमद् भागवत का श्रवण ऋषि सुकदेव ने कराया था। जिसके बाद उन्हें मोक्ष की प्राप्ति हुई थी। उन्होंने कहा कि भागवत कथा मनुष्य को सही राह दिखाती है। लोगों का कल्याण करती है। और कहा कि विष्णुजी ने पांचवां अवतार कपिल मुनि के रूप में लिया। शैय्या पर पड़े हुए भीष्म पितामह के शरीर त्याग के समय वेद व्यास आदि ऋषियों के साथ कपिल मुनि भी वहां उपस्थित थे। कपिल मुनि सांख्य दर्शन के प्रवर्तक हैं। कपिल मुनि भागवत धर्म के प्रमुख बारह आचार्यों में से एक हैं। उन्होंने लोगों से सनातनी संस्कृति के व्यापक प्रचार प्रसार की बात कही। भजनों पर लोग जमकर झूमे। तथा इस अवसर पर मुख्य रूप से मुख्य संयोजक योगेंद्र सिंह यादव(बबली),पं.अनिल सुडेले,पं.मैथलीशरण मुदगिल,इंजी.शशिकांत द्विवेदी,पं.अजय भार्गव,ए.के.सोनी,इन्द्ररपाल सिंह खनूजा,नरेश मिश्रा,पं.आदेश चतुर्वेदी,आचार्य पं.मृदुल शुक्ला,उत्कर्ष लवानिया,दीपचंद्र,पं.श्याम सुंदर अवस्थी,रामकुमार ज्ञानी,गिरजा शंकर उपाध्याय,गिरीश नारायण संज्ञा,विश्वनाथ मिश्रा,चंद्रमोहन तिवारी,कैलाश नारायण मालवीय,उत्कर्ष सुडेले,रानू महाराज,नरेश बुंदेला,जगदीश कुशवाहा,अम्बिका श्रीवास्तव,रेखा तिवारी सहित आदि माताएं-बहने भक्तगण उपस्थित रहे व संचालन पं.सियारामशरण चतुर्वेदी प्रधानाचार्य एम.एस.राजपूत इं.कॉ. प्रेमनगर झाँसी ने किया अंत मे आभार संदीप साहू नगरा ने किया।

रिपोर्ट – मुकेश वर्मा/राहुल कोष्टा