July 14, 2024

चुनाव में खलल पैदा करने वालों को चिन्हित कर कार्यवाही करे, भूमि विवाद में 107/116 धारा 24 की कार्यवाही कर निस्तारण करने के निर्देश

झांसी। तहसील सदर सभागार में संपूर्ण समाधान दिवस की अध्यक्षता करते हुए जिलाधिकारी श्री अविनाश कुमार ने भूमि पर कब्ज़ा संबंधित शिकायतों के निस्तारण पर पुलिस विभाग और राजस्व विभाग को समन्वय स्थापित करते हुए कार्य करने के निर्देश दिए ताकि भूमि संबंधित विवादों का सख्ती से निस्तारण किया जा सके। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि संपूर्ण समाधान दिवस में प्राप्त शिकायतों का निस्तारण समयसीमा और गुणवत्ता के साथ किया जाना सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने यह भी आव्हान किया कि शिकायतकर्ता द्वारा की गई शिकायत के निस्तारण से संतुष्ट होना भी सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने कहा कि संपूर्ण समाधान दिवस/जनसुनवाई मुख्यमंत्री की सर्वोच्च प्राथमिकताओं में शामिल है, जिसके तहत मुख्यमंत्री हेल्पलाइन/आईजीआरएस पोर्टल पर प्राप्त शिकायतों का गुणवत्तापूर्ण व समय अंतर्गत निस्तारण किए जाने हेतु समय-समय पर निर्देशित करते हुए निस्तारण की क्रास चेकिंग भी की जाती है, उन्होंने अधिकारियों को निस्तारण में रुचि लेते हुए शिकायतों के निस्तारण पर जोर दिया ताकि जिले की रैंकिंग में और अधिक सुधार हो सके। जिलाधिकारी अविनाश कुमार ने सम्पूर्ण समाधान दिवस की अध्यक्षता करते हुए उपस्थित अधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा लोकसभा सामान्य निर्वाचन- 2024 की घोषणा होने के तत्काल बाद ही आदर्श आचार संहिता का अनुपालन किया जाना सुनिश्चित किया जाए। समस्त सरकारी कार्यालय, भवन एवं परिसर में लगे हुए होर्डिंग,बैनर, सरकारी योजनाओं के प्रचार प्रसार को तत्काल प्रभाव से हटाया जाना सुनिश्चित करें। उन्होंने संपूर्ण समाधान दिवस के अवसर पर समस्त राजस्व निरीक्षक/ लेखपालों को भूमि संबंधित विवादों/कब्जा की शिकायतें प्राप्त होने पर पुलिस विभाग के साथ आपसी सामंजस्य बनाते हुए शिकायतों का समय से और गुणवत्तापूर्ण निस्तारण करने के निर्देश दिए। उन्होंने समस्त लेखपालों को ताकीद करते हुए कहा कि नियम विरुद्ध रिपोर्ट लगाने पर होगी सख्त कार्रवाही। जो दायित्व दिए हैं, उनका निष्ठा पूर्ण निर्वहन करना सुनिश्चित करें। इसके अतिरिक्त उन्होंने कहा कि शासन द्वारा संचालित लाभकारी योजनाओं के आवेदन पर समय से रिपोर्ट लगाना सुनिश्चित करें, आख्या न लगाने पर अथवा लंबित रखने पर कार्यवाही करने की बात कही। उन्होंने उत्तर प्रदेश राजस्व संहिता का पुनः गंभीरता से अध्ययन करने का सुझाव दिया ताकि प्राप्त शिकायतों का निस्तारण राजस्व संहिता के प्रकाश में समयबद्व और पारदर्शी ढंग से किया जा सके। संपूर्ण समाधान दिवस के मौके पर श्रीमती जमुना प्रजापति पुत्री स्व0सीताराम प्रजापति निवासी बरुआसागर ने शिकायती पत्र देते हुए बताया कि प्राथीॅ गरीब,असहाय और बेसहारा विधवा महिला है, जो विवाह के बाद पिता के घर रह रही है। प्राथिॅया के पास खुद का कोई आवासीय भूखंड नहीं है जिस कारण प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आवेदन किया और आवेदन स्वीकृत हो गया। जब निर्माण कार्य करा रही थी तो प्रार्थी को उसकी भाभी साधना प्रजापति पत्नी मुन्ना प्रजापति निवासी हरपुरा गाली गलौज कर मारपीट पर आमादा हो गई। जब रोका तो मारपीट करने लगी। थाना बरुआ सागर में शिकायत करने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की गई, जिस कारण विपक्षियों के हौसले बुलंद हो गए। जिलाधिकारी ने तत्काल टीम गठित कर शिकायत का संयुक्त परीक्षण कर नियमानुसार उचित निस्तारण करने के निर्देश दिए। इस मौके पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक राजेश एस, डीएफओ जे0बी0शेंडे, प्रशिक्षु आईपीएस अंतरिक्ष जैन।, एसडीएम परमानंद , जिला कृषि अधिकारी के के सिंह, पीडी डीआरडीए राजेश कुमार, तहसीलदार, क्षेत्राधिकारी पुलिस सहित समस्त विभागों के जिलास्तरीय अधिकारी, थाना अध्यक्ष उपस्थित रहे।

रिपोर्ट – मुकेश वर्मा/राहुल कोष्टा