July 14, 2024

प्रक्षेत्र में बोई चना प्रजाति एवं अरहर की फसलों में बेमौसम अतिवर्षा एवं ओलावृष्टि से नहीं पाई क्षति

झांसी। आज मण्डलायुक्त के निर्देश पर डा०एल०वी०यादव, संयुक्त कृषि निदेशक, झाँसी मण्डल, झॉसी द्वारा केन्द्राध्यक्ष भूमि संरक्षण प्रशिक्षण केन्द्र मऊरानीपुर कार्यालय का एवं केम्पस स्थित बीज विधायन संयन्त्र तथा राजकीय कृषि भूमि संरक्षण प्रशिक्षण प्रक्षेत्र मऊरानीपुर का औचक निरीक्षण किया गया । निरीक्षण के समय श्रीमती डिम्मल केन, केन्द्राध्यक्ष मऊरानीपुर तथा प्रभारी प्रक्षेत्र श्री वृजराजमीण, प्राविधिक सहायक ग्रुप-बी, श्रीमती रेनू चतुर्थ श्रेणी तथा अजय प्रताप सिंह, बीज विधायन संयत्र प्रभारी सुनील कुमार, अवर अभियंता उपस्थिति मिले। राजकीय कृषि भूमि संरक्षण प्रशिक्षण प्रक्षेत्र के निरीक्षण के दौरान पर बोयी गयी चना प्रजाति जी0एन0जी0-2171 ब्रीडर, एवं अरहर प्रजाति राजेन्द्र ब्रीडर की फसलें 5.00-5.00 हैक्टेयर में बोयी पायी गयी। चना एवं अरहर की फसलों में किसी प्रकार की क्षति नहीं पायी गयी परंतु मौके पर फसल कीटग्रस्त पायी गयी। संयुक्त कृषि निदेशक ने प्रक्षेत्र प्रभारी बृजराज मीणा को निर्देशित किया कि फसल की निगरानी निरन्तर करते रहे ताकि फसलों के उत्पादन में किसी प्रकार का विपरीत प्रभाव पड़ सकें । प्रक्षेत्र पर बोयी गयी अरहर एव चना की फसलों में बेमोसम वर्षा से भी किसी प्रकार की क्षति नहीं हुयी है। संयुक्त कृषि निदेशक ने प्रक्षेत्र में बोई गई अरहर की फसल का मौके पर सत्यापन किया और उत्पादन और उत्पादकता की जानकारी ली। इस अवसर पर श्रीमती डिंपल केन केंद्राध्यक्ष मऊरानीपुर ने भूमि संरक्षण प्रशिक्षण केन्द्र की विस्तृत जानकारी देते हुए कैम्पस में स्थित बीज विधायन संयंत्र का भ्रमण कराया और किए जा रहे कार्यों की जानकारी दी।

रिपोर्ट – मुकेश वर्मा/राहुल कोष्टा