July 14, 2024

शिक्षक भर्ती और भ्रष्टाचार की जांच न होने पर कार्य समिति की बैठक के वहिष्कार की सदस्य ने दी चेतावनी

झांसी। शिक्षक भर्ती और भ्रष्टाचार के ममाले को लेकर चर्चाओं में बने विश्विद्यालय प्रशासन पर आज कार्य समिति के सदस्य ने भी गंभीर आरोप लगाते हुए उच्च स्तरीय जांच की मांग की है। सदस्य ने चेतावनी देते हुए कहा की जब तक जांच नही होगी वह कार्यसमिति की बैठक में उपस्थित नही होंगे उन्हे कार्य परिषद से मुक्त समझा जाए।बांदा के अतर्रा महाविधालय वाणिज्यकर विभाग के प्रोफेसर डॉक्टर अभिलाष कुमार श्रीवास्तव ने बुंदेलखंड विश्विद्यालय कार्य समिति सदस्य ने बुंदेलखंड विश्विद्यालय झांसी के कुलपति को पत्र लिखते हुए बताया की वह कार्य परिषद की आयोजित बैठक 25 जनवरी तथा 24 फरवरी 2024 को सम्मानित हुआ था। कार्य परिषद की बैठक में उनके द्वारा शिक्षक कल्याण कोष 18 मई 2021 के अनुपालन में शिक्षकों की नियुक्ति में प्रतीक्षा सूची बनाई जाए व परिणाम को वेबसाइट और समाचार पत्रों में प्रकाशित किया जाए। तथा डॉक्टर प्रतीक अग्रवाल के प्रकरण पर निगरानी की आवश्यकता नहीं है। इस और कार्य परिषद का भी ध्यान आकर्षित कराया था। लेकिन कुलपति और कुल सचिव द्वारा उनकी शिकायत को गुंभीरता से नही लिया गया, जो खेद जनक है। बुंदेलखंड विश्विद्यालय शिक्षक संघ जिसमे विश्विद्यालय में शिक्षक भर्ती अनियमितता एवम भ्रष्टाचार के आरोप लगाए गए थे। डॉक्टर अभिलाष कुमार ने चेतावनी देते हुए कहा की जब तक इन आरोपों की उच्च स्तरीय निष्पक्ष जांच नही हो जाती तब तक वह कार्य समिति की 11 मार्च 2024 को आयोजित होने वाली बैठक में उपस्थित नही होंगे। उन्हे बैठक में भागीदारी नही माना जाए और उन्हे कार्य समिति सदस्य के पद से मुक्त करते है।

रिपोर्ट – मुकेश वर्मा/राहुल कोष्टा