July 12, 2024

खुशियों का माहोल मातम में बदला, पुलिस की लापरवाही आई सामने

झांसी। मामूली से झगड़े की सूचना देने के बाद भी त्वरित कार्यवाही न करने वाली पुलिस की लापरवाही सामने आ गई। जिसके खिलाफ आधा घंटे पहले लिखित सूचना दी उसी व्यक्ति ने घर में घुसकर चाकुओं से ताबड़तोड़ हमला कर तीन लोगों को घायल कर दिया। हालत गंभीर होने पर पति पत्नी को मेडिकल कोलेज रेफर कर दिया गया है।जानकारी के मुताबिक शहर कोतवाली क्षेत्र के उन्नाव गेट बाहर शमशान घाट के पास रहने वाले चंदन कोरी के साले की शादी थी। घर में खुशियों का माहोल चल रहा था। नाते रिश्तेदार आए हुए थे। तभी सोमवार की दोपहर चंदन का साडू भाई मनोज अपनी पत्नी गीता के साथ मारपीट करने लगा और विवाद करने लगा। किसी प्रकार चंदन और उसके परिजनों ने उसे शांत कराने का प्रयास किया। जब वह नही माना तो चंदन की साली रश्मि उन्नाव गेट चौकी पहुंची ओर लिखित शिकायत की। लेकिन पुलिस जब तक एक्शन लेती तब तक करीब आधा घंटे बाद मनोज अपने हाथ में धारदार हथियार लेकर आया और चंदन के शरीर पर ताबड़तोड़ तीन बार कर दिए। चंदन को बचाने आई उसकी पत्नी सीता पर भी मनोज ने दर्जनों चाकू से बार कर दिए वही बीच बचाव करने आई मनोज ने अपनी पत्नी गीता और साली रश्मि पर भी चाकुओं से प्रहार कर दिया और मौके से भाग निकला। शादी समारोह के माहोल में खूनी संघर्ष से पूरा माहौल मातम में बदल गया। आनन फानन में परिजन घायलों को लेकर जिला अस्पताल पहुंचे जहां चंदन और उसकी पत्नी गीता की हालत ज्यादा गंभीर होने पर उन्हें मेडिकल रेफर कर दिया। लेकिन सबसे बड़ी गंभीर बात यह रही की जब पीड़ित कोतवाली पहुंचे तो उन्हें मिनर्वा चौकी की बात कह कर टाल दिया और जिला अस्पताल कोई पुलिस कर्मी घायलों की सुध लेने नही पहुंचा

रिपोर्ट – मुकेश वर्मा/राहुल कोष्टा